पंप पर लगी कतार से हैं परेशान तो घर पर मंगवा लें पेट्रोल-डीजल

लाइव सिटीज डेस्क : सरकार पेट्रोल पंपों पर भीड़ कम करने के लिए एक नई योजना पर काम कर रही है. शुक्रवार को पेट्रोलियम मंत्रालय ने ट्विटर पर बताया है कि सरकार की ऐसी योजना है कि आने वाले समय में अगर ग्राहक प्री-बुकिंग करवाते हैं तो पेट्रोल और डीज़ल की होम डिलिवरी की जाएगी. ऐसा माना जाता है कि भारत में रोजाना लगभग 35 करोड़ लोग ईंधन भरवाने के लिए फ्यूल स्टेशनों पर जाते हैं. अपने ट्वीट में पेट्रोलियम मंत्रालय ने कहा है कि इस विकल्प पर विचार किया जा रहा है कि ग्राहकों को प्री-बुकिंग कराए जाने पर उनके घर पर पेट्रो उत्पादों की डिलिवरी की जाए. इससे ग्राहकों को फ्यूल स्टेशनों पर होने वाली वक्त की बर्बादी और लंबी लाइनों से निजात मिलेगी.

बता दें कि पेट्रो उत्पादों में से अभी केवल एलपीजी की होम डिलिवरी की जाती है, जबकि सभी प्रकार के ऑटो फ्यूल (पेट्रोल, डीज़ल और सीएनजी) के लिए गाहकों को फ्यूल स्टेशनों पर जाना पड़ता है. इसके अलावा, पेट्रोलियम मंत्री ने लोकसभा में बताया है कि पेट्रो उत्पादों की खरीददारी में कैशलेस ट्रांजैक्शन में भी इजाफा हुआ है. पहले रोजाना लगभग 150 करोड़ रुपये के पेट्रो उत्पादों की रोजाना कैशलेस खरीददारी होती थी, जो अब बढ़कर 400 करोड़ रुपये की हो गई है. ऐसा माना जाता है कि भारत में फ्यूल स्टेशनों पर सालाना लगभग 2,500 करोड़ रुपये का ईंधन बेचा जाता है. भारत दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता देश है.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 1 मई से देश के पांच शहरों में ऐसी योजना भी लागू करने का फैसला किया है, जिसके तहत पेट्रोल-डीजल के दामों में तेल कंपनियां रोजाना संशोधन कर सकेंगी. सबसे पहले यह योजना पुडुचेरी, विशाखापटनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में लागू की जाएगी. अभी कंपनियां हर महीने की 1 और 16 तारीख को कच्चे तेल के अंतरराष्ट्रीय मूल्य के आधार पर हर 15 दिन में पेट्रोल-डीजल के दामों में संधोधन करती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *