आज से शुरू होने जा रहा है भागलपुर महोत्सव, पर्यटन मंत्री करेंगे उद्घाटन

bhagalpur-festival

भागलपुर : आज से शुरू होने जा रहा है भागलपुर महोत्सव. इस महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. कई स्कूल के बच्चे इस महोत्सव में हिस्सा लेने पहुंचेंगे और अपना करतब दिखाते नज़र आएंगे. इस मौके पर पर्यटन मंत्री करेंगे शिरकत. साथ ही कार्यक्रम का उद्घाटन भी करेंगे. नागरिक विकास समिति की ओर से टाउन हॉल-कर्ण प्रशाल में पांच दिवसीय भागलपुर  महोत्सव का शुभारंभ बुधवार को होगा, जो 10 दिसंबर तक चलेगा. इसको लेकर सारी  तैयारी पूरी कर ली गयी है. मंच को सजाने से लेकर लोगों के बैठने, पेयजल,  सुरक्षा आदि की सारी व्यवस्था कर ली गयी है. सलाहकार रमण कर्ण ने बताया कि भागलपुर महोत्सव  का उद्घाटन बुधवार दोपहर एक बजे पर्यटन मंत्री प्रमोद  कुमार करेंगे.

ऑडिशन में सफल प्रतिभागियों के साथ मुख्य अतिथि की फोटोग्राफी होगी. संध्या छह बजे कवि सम्मेलन से कार्यक्रम का आगाज होगा. समारोह में स्थानीय जनप्रतिनिधि, प्रमंडल व जिले के प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारी भी शामिल होंगे.

समिति के अध्यक्ष जिम्मी क्वाड्रेस ने बताया कि गुरुवार को प्रतियोगिता का शुभारंभ होगा. गुरुवार को 11 बजे एकल नृत्य से महोत्सव का शुभारंभ होगा. इसके बाद मेहंदी प्रतियोगिता, फैंसी ड्रेस,  ग्रुप डांस प्रतियोगिता, साढ़े पांच बजे हिंदी नाटक का मंचन, शाम साढ़े छह बजे सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा. शुक्रवार को मंजूषा पेंटिंग से कार्यक्रम की शुरुआत होगी. इसके बाद स्कूल   स्तरीय ग्रुप डांस, एकल नृत्य, साढ़े तीन बजे दुल्हन श्रृंगार  प्रतियोगिता, डुएट डांस, लघु नाटक व साढ़े छह बजे गजल-भजन होगा. शनिवार को  11 बजे  शास्त्रीय नृत्य से कार्यक्रम की शुरुआत होगी. इसके बाद पेंटिंग प्रतियोगिता, ग्रुप डांस, चार बजे मॉडलिंग पुरुष, पांच बजे मॉडलिंग महिला एवं शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा. रविवार को प्रात: 11 बजे लोकगीत गायन से कार्यक्रम की शुरुआत होगी.

11 वर्षों तक लगातार हो चुका है सफल आयोजन

सह संयोजक राकेश रंजन केसरी ने बताया कि 2003 में भागलपुर महोत्सव की शुरुआत नागरिक विकास समिति के रमण कर्ण, सत्यनारायण प्रसाद, शंकर प्रसाद मोदी आदि  ने मिल कर की थी, जो इस बार 12 वीं बार हो रहा है. 2008 एवं 2014 में अपरिहार्य कारणों से भागलपुर महोत्सव को स्थगित करना पड़ा था. भागलपुर महोत्सव शहर ही नहीं बल्कि पूर्वी बिहार की कला-संस्कृति की अधिकतर विधा से संबंधित प्रतिभाओं को मंच देने और उभारने का काम कर रहा है. इस महोत्सव से बुगी-बुगी व छोटे मियां कॉमेडी शो फेम बाल कलाकार स्वस्ति नित्या और भोजपुरी नायिका स्मृति सिन्हा भी यहीं से उभरी हैं. आसिफ इकबाल खान राज्य स्तर पर गीत व गजल कार्यक्रम पर धूम मचा चुके हैं.

इनकी रहेगी धूम 

महोत्सव  के पहले दिन बुधवार को सांस्कृतिक समारोह का आगाज कवि सम्मेलन व मुशायरा  से होगा. इसमें देश के नामचीन कवि व शायर रतलाम के वीर रस के कवि बलराज सिंह ब्रज, नागपुर के हास्य कवि  आनंदराज आनंद, बालाघाट के प्रेम रस की कवयित्री माधुरी किरण, इलाहाबाद के हास्य कवि अखिलेश द्विवेदी, आसनसोल के  हास्य कवि पवन बांके बिहारी अपनी प्रस्तुति देंगे. कोई ओजपूर्ण कविता से  देशभक्ति को बढ़ावा देंगे, तो कोई हास्य-व्यंग्य वाण से लोगों को  गुदगुदायेंगे. आठ दिसंबर को गजल गायक राजकुमार बट एवं सूफी गायक सुनील  कुमार मिश्रा की महफिल सजेगी. नौ दिसंबर को लोक गायक मोहन राठौर, आखिरी दिन 10 दिसंबर को लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नूतन अपनी प्रस्तुति से लोगों का  मनोरंजन करेंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*