बिहार के IAS का नौकरी से इस्तीफा, कारणों को लेकर कई चर्चाएं

IAS-SANTOSH
IAS ए संतोष मैथ्यू (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : पॉवर गैलरी से बिहार को कनेक्ट करती एक बड़ी खबर आ रही है. नार्थ-साउथ ब्लाक के बड़े सूत्रों के मुताबिक़ IAS ए संतोष मैथ्यू ने सरकारी नौकरी से इस्तीफा कर दिया है. वे बिहार कैडर के 1985 बैच के IAS ऑफिसर हैं. अभी नई दिल्ली में सेंट्रल डेपुटेशन पर थे. मैथ्यू ने अपने इस्तीफे की वजह निजी बताई है, पर पॉवर गैलरी में और भी कई चर्चाएं हैं. अभी उनके रिटायरमेंट में वक़्त भी बचा था.

पॉवर गैलरी के जानकार कहते हैं कि ए संतोष मैथ्यू की पहचान IAS अधिकारी के अलावा भी बड़ी थी. वे देश में पॉलिटिकल इकोनॉमिस्ट के रूप में भी जाने जाते रहे हैं. उन्होंने यह पहचान ऐसे ही नहीं बनाई थी. आईएएस बनने के पहले उन्होंने दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से पोस्ट ग्रेजुएट की पढ़ाई की थी. बाद में उन्होंने D.Phil की डिग्री Development Studies from IDS, Sussex और रिसर्च मेथड्स में M.Sc की डिग्री University of Sussex से हासिल की थी.

उन्होंने IAS अधिकारी के तौर पर सोशल वेलफेयर, लेबर, रूरल डेवलपमेंट, फाइनेंस, हेल्थ, एग्रीकल्चर और एजुकेशन जैसे विभागों में बिहार में काम किया. वे 1992 से 1994 तक पलामू के जिलाधिकारी भी थे, जो अब बिहार से बंटवारे के बाद झारखंड में है. सेंट्रल डेपुटेशन पर वे पहली बार मिनिस्ट्री ऑफ़ रूरल डेवलपमेंट में गए थे.

इस्तीफा देने वाले IAS अधिकारी ए संतोष मैथ्यू को भारत सरकार ने कुछ माह पहले नेशनल कौंसिल फॉर टीचर एजुकेशन का चेयरमैन भी बनाया था. चेयरमैन बनने के बाद वे शिक्षकों की गुणवत्ता को लेकर बड़ा रोडमैप बनाने में लगे थे. उनका मानना था कि बगैर अच्छे टीचर के भारत का एजुकेशन सिस्टम ठीक नहीं हो सकता. पॉवर गैलरी के कुछ लोग कहते हैं कि वे जैसा चाह रहे थे, शायद वैसा तब नहीं हो रहा था. अब IAS की नौकरी से इस्तीफे के बाद मैथ्यू का क्या प्लान है, अभी किसी को पता नहीं चल पाया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*