बिहार में आंख के मरीजों को बड़ी राहत देगी सरकार, बैठक में हुआ निर्णय

EYE
प्रतीकात्मक फोटो

पटना : बिहार सरकार अगले कुछ महीनों में सूबे के आंख के रोगियों को बड़ी राहत देने जा रही है. अगले साल 31 मार्च 2018 तक राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों में आई बैंक की सुविधा उपलब्ध करा दी जायेगी. डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने आज बुधवार को इसकी जानकारी दी है. ये सेवा शुरू होने के बाद बिहार के मरीजों को आई ट्रांसप्लांट के लिए बाहर नहीं जाना होगा.

सुशील मोदी ने बताया कि 31 मार्च 2018 तक राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों में आई बैंक की सुविधा के साथ ही इस साल 31 दिसम्बर 2017 तक पटना के राजेन्द्र नगर सुपर स्पेशियलिटीज अस्पताल में आई बैंक की स्थापना करने का सरकार ने निर्णय लिया है. बीते सोमवार को डिप्टी सीएम सुशील मोदी की उपस्थिति में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और दधीचि देहदान समिति के प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई बैठक में ये निर्णय लिए गए हैं.

SUSHIL-MODI-MANGAL
दधीचि देहदान समिति व स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त समीक्षा बैठक में डिप्टी सीएम सुशील मोदी, मंगल पांडेय व अन्य प्रतिनिधि

इस बैठक में राज्य स्तर पर अंगदान के लिए एक नोडल ऑफिसर नियुक्त करने का भी निर्णय लिया गया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय की अध्यक्षता में अंगदान से जुड़े मुद्दे पर सरकार को सलाह देने के लिए सलाहकार समिति गठित की जायेगी. राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में ब्रेन डेड घोषित करने के लिए मेडिकल एक्सपर्ट की एक कमिटी अधिसूचित की जायेगी. परिजनों की सहमति से ब्रेन डेड घोषित मरीजों के अन्य अंगों को निकाल कर जरूरतमंदों को प्रत्यारोपित किया जा सकेगा.

सरकार सभी मेडिकल कॉलेज-अस्पतालों में एक उत्प्रेरक (Motivator) की नियुक्ति करेगी जो मरीजों के परिजनों को अंगदान के लिए प्रेरित करेगा. सरकार की ओर से अप्रैल में अंगदान-चक्षुदान सप्ताह का आयोजन कर बड़े पैमाने पर राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों में पम्पलेट, पोस्टर व बैनर के जरिए जागरूकता अभियान चलाया जायेगा.

इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव आर के महाजन के साथ ही दधीचि देहदान समिति के अध्यक्ष व पूर्व विधान पार्षद गंगा प्रसाद, सचिव विमल कुमार जैन, डा. सुभाष प्रसाद, डा. विभूति प्रसन्न सिन्हा, डा. राजीव कुमार सिंह, डा. एम रहमान, विनीता मिश्रा, अनामिका सिंह, अमृता भूषण, मुकेश हिसारिया, मनोज संढवार, राजेश वर्मा, रोटेरियन विवेक कुमार और प्रदीप चौरसिया आदि उपस्थित थे.

यह भी पढ़ें – कांग्रेस ने लिया बड़ा फैसला, 10 नेताओं का निलंबन वापस, देखें पूरी लिस्ट
सुशील मोदी बोले : नाबार्ड के सहयोग से आगे बढ़ेगा बिहार

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमेंफ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*