‘स्मार्ट सिटी’ के इस नरक कुंड में आपका स्वागत है…

पटना (अजित कुमार) : बिहार की राजधानी पटना. स्मार्ट सिटी की लिस्ट में शामिल हो गया है. लेकिन हकीकत यही है कि यहीं नरक कुंड भी है. आइए इस नरक कुंड की आपको सैर कराते हैं.

जी हां, बात कर रहे हैं पटना से सटे फुलवारीशरीफ प्रखंड की. अब इसे आप पटना से दूर नहीं कर सकते हैं. फुलवारीशरीफ भी पटना का अंग बन चुका है. यह प्रखंड भी राजधानी का महत्वपूर्ण पार्ट बन चुका है.

रोजाना यहाँ सैंकड़ो लोग इलाज के लिए घुटने भर पानी से होकर अस्पताल पहुँचते हैं

फुलवारी शरीफ का कर्मचारी राज्य बीमा अस्पताल 
जिले भर से रोजाना यहाँ सैंकड़ो लोग इलाज के लिए घुटने भर पानी से होकर अस्पताल पहुँचते हैं. जब अस्पताल में पानी ही पानी भरा मिलता है तब उनका मिजाज क्या कहता होगा आप समझ सकते हैं.

कर्मचारी राज्य बीमा अस्पताल में मरीजो के बेड के नीचे ही नही ओपीडी और ओटी में भी पानी लबालब भरा रहता है. ऐसा हाल दस-पन्द्रह वर्षो से है लेकिन कोई ठोस पहल अबतक नहीं हो पाया. यह राजधानी पटना का सूरतेहाल बताने के लिए काफी है.

फुलवारीशरीफ की महत्ता इस मायने में भी बढ़ जाती है कि सूबे का सबसे बड़ा कैंसर अस्पताल यहीं है. इसी तरह बिहार का एम्स भी इसी प्रखंड में है. सूबे के सबसे बड़ा राज्य कर्मचारी बीमा अस्पताल भी फुलवारी में ही है. इसकी वजह से हजारों लोग डेली फुलवारीशरीफ इलाज के लिए आते हैं . लेकिन उन्हें क्या तकलीफें होती है, इसे आप फ़ोटो में भी देख सकते हैं.

तस्वीरें और भी हैं…

फुलवारी शरीफ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चचरी के सहारे मरीजों को आना पड़ता है

बारिश का पानी बढ़ जाता है तो ऐसे ही बांस लगाकर आगाह किया जाता है

 

आगे रास्ता गहरे तालाब में चला जाता है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*