बिहार प्लेयर्स एसोसिएशन का खेल सत्याग्रह, पटना की सड़कों पर खेला फूटबाल

पटना : बिहार में पिछले 5 वर्ष से बंद पड़े खिलाड़ियों की नियुक्ति को शीघ्र चालू कराने हेतु बिहार प्लेयर्स एसोसिएशन आज मंगलवार को राजधानी की सड़कों पर उतरा. एसोसिएशन के बैनर तले खिलाड़ियों ने खेल सत्याग्रह की शुरुआत राजधानी के डाकबंगला चौराहा पर फुटबॉल खेल कर किया. सैंकड़ो की संख्या में बिहार के विभिन्न स्पर्धाओं के खिलाड़ी डाकबंगला पहुंचे और विरोध जताते हुए वहीं पर फुटबॉल खेल कर अपना विरोध जताया.

इस मौके पर बिहार प्लेयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय तिवारी ने बताया कि प्रतिभावान खिलाड़ियों की नियुक्ति हेतु बिहार सरकार ने वर्ष 2015 में ही विज्ञापन प्रकाशित किया था, लेकिन आज तक किसी भी खेल के खिलाड़ी को नियुक्त नहीं किया गया है. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार के विभागीय पदाधिकारी केवल टालमटोल की नीति अपना रहे हैं. सामान्य प्रशासन विभाग और कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के पदाधिकारियों की सोच में बदलाव नहीं हुआ है. वे नकारात्मक सोच से काम कर रहे हैं.

तिवारी ने कहा कि खिलाड़ियों को नौकरी नहीं मिलने से वे हताश हो चुके हैं. आज से खेल सत्याग्रह की शुरुआत हो गई और जबतक हमारी मांगे नहीं मान ली जाती है, सत्याग्रह जारी रहेगा. हम इस विरोध से सरकार का ध्यान अपनी मांगों की ओर आकृष्ट कराना चाहते हैं.

इसके साथ ही विरोध में उतरे खिलाड़ियों का कहना था कि सरकार कहती है कि आप केवल मेडल लायें और बाकी चिंता हम पर छोड़ दें. मेडल तो हम ले आते हैं पर सरकार हमारे बारे में नहीं सोचती है.

बिहार की खेल से जुड़ी और ख़बरें यहां क्लिक कर पढ़ें

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*