मृत फूलमाला ने कोर्ट में कहा- हुजूर मैं जिंदा हूं…

छपरा : दहेज के लिए विवाहिता की हत्या कर शव गायब किए जाने का आरोप लगाते हुए दर्ज परिवाद में उस समय नया मोड़ आया जब कथित मृतिका ने कोर्ट में उपस्थित होकर अपने जिंदा होने का न केवल प्रमाण प्रस्तुत किया बल्कि लगाए गए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया.

जानकारी के अनुसार कोपा थाना क्षेत्र के बनकटा निवासी आश नारायण यादव की पत्नी लालमती देवी ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के कोर्ट में एक परिवाद दर्ज कराया था. दर्ज परिवाद में अपनी बेटी फूलमाला को दहेज के लिए प्रताड़ित कर हत्या कर उसका शव छुपाने का आरोप लगाते हुए अपने दामाद रसूलपुर थाना क्षेत्र के चरवा निवासी शैलेश यादव समेत सात को नामजद किया. दर्ज परिवाद में आरोप लगाया गया था कि हुंडा मोटरसाइकिल और एक लाख नकद की मांग को लेकर उसकी पुत्री के ससुराली परिजन प्रताड़ित करते थे.

26 नवंबर को उसे सूचना मिली कि उसकी पुत्री फूलमाला की दहेज के लिए हत्या कर दी गई है. अगले दिन जब वह पुत्री की ससुराल पहुंची तो सभी आरोपी घर में ताला लगाकर फरार थे. शपथ पत्र के साथ दाखिल परिवाद पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया था. जब इसकी सूचना फूलमाला को हुई तो वह अपने अधिवक्ता के साथ कोर्ट में उपस्थित हुई और अपने आप को जिंदा बताते हुए मां द्वारा दाखिल किए गए परिवाद में लगाए गए सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*