अब दूर से हीं चमकेगा छपरा जंक्शन

छपरा। पूर्वोतर रेलवे के छपरा जंक्शन अब दूर से हीं चमकता हुआ दिखेगा। नहीं बुझेगी बोगियों की लाईट। स्टेशन से एक किलोमीटर दूर ट्रेन पहुंचने पर हीं स्टेशन रौशनी से जगमगा उठेगा। स्टेशन की खूबसूरती बढ़ाने की कवायद तेज हो गई है।

विजयवाड़ा स्टेशन की तर्ज पर जल्द ही छपरा जंक्शन भी एक किलोमीटर दूर से रोशनी से नहाया दिखाई देगा। फ्लड एलईडी लाइट का इस्तेमाल होगा। करीब 50 लाख रुपए की लागत से लगाया जाएगा। रेलवे प्रशासन ने इस योजना की मंजूरी दे दी है। यह स्टेशन पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल का एकलौता स्टेशन होगा। जहां पर इस तरह की कार्य योजना को लागू किया जा रहा है। दरअसल सारण जिले को रेलवे द्वारा औद्योगिक केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। जिसके तहत दरियापुर में रेल चक्का कारखाना को चालू कर दिया गया है और मढौरा में डीजल रेल कारखाना के निर्माण का कार्य भी शुरू हो चुका है। उतर बिहार का यह एक मात्र जिला है जहां एक दशक के अंदर दो बड़े औद्योगिक इकाईयों की स्थापना हुई है और सबसे अहम बात यह है कि रेलवे के द्वारा इसकी स्थापना की गई है। यात्रियों को इस क्षेत्र के महत्व से अवगत कराने की दृष्टि से रेलवे ने यह सार्थक पहल शुरू किया है।

क्या है स्थिति

वर्तमान समय में छपरा जंक्शन पर रोशनी का सामान्य प्रबंध है। यह स्टेशन ए-वन क्लास का है। जिसके अनुरूप प्रकाश की व्यवस्था नहीं की गई है। हलांकि वर्ष 2007 में तत्कालीन रेल महाप्रबंधक सुखवीर सिंह के द्वारा स्टेशन पर अतिरिक्त रोशनी का प्रबंध करने का निर्देश दिया गया था। जिसका अनुपालन नहीं हो सका।

क्या है उदेश्य

फ्लड एलईडी लाइट लगाने से उर्जा की खपत कम होगी। बिजली बिल पर खर्च होने वाली राशि में कमी आएगी। कम ऊर्जा से अधिक रोशनी मिलेगी। स्टेशन के रोशन होने से यात्रियों को सुविधा होगी। रात के समय उच्चकों तथा अपराधियों पर नजर रखने में सहुलियत होगी। यात्रियों को बेहतर सुरक्षा मिल सकेगा। सोलर लाइट लगाए जाने से प्राकृतिक संसाधनों के इस्तेमाल को बढ़ावा मिलेगा। जनरेटर तथा बिजली पर निर्भरता कम होगी।

ट्रेनों में भी नहीं होगी रोशनी की किल्लत

चमकते स्टेशन की प्रमुख ट्रेनों में भी रोशनी की किल्लत नहीं होगी। सभी प्रमुख ट्रेनों में सीएफएल की जगह एलईडी लाइट लगाई जाएंगी। बैट्री खराब होने पर भी दूसरे पैनल के जरिए लाइट जलती रहेंगी। इससे यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। इस योजना के लिए करीब 70 लाख रुपये राशि का आवंटन हुआ है।

लगेगा सोलर पैनल

छपरा जंक्शन पर 100 किलोवॉट का सोलर पैनल लगेगा। इसकी लागत करीब दो करोड़ रुपए आएगी। कार्यालय के सभी उपकरण सौर ऊर्जा से ही चलेंगे।

रोशनी से नहाएगा छपरा जंक्शन   live-cities-logo

फ्लड एलईडी लाइट लगेगी

-सोलर पैनल लगेगा

-प्रमुख ट्रेनों में एलईडी लाइट लगेंगी

क्या कहते हैं अधिकारी

तीन बड़े काम कराए जाने हैं। तीनों एक साल के अंदर पूरा हो जाएगा। लगभग सभी कार्यों की मंजूरी मिल चुकी है। उन्होनें लाइव सिटी के रिपोर्टर से बातचीत करते हुए कहा कि जल्द ही काम शुरू करा दिया जाएगा।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*