हिमाचल में लोग बदलाव चाहते हैं, भाजपा को मिलेंगी 47 सीटें !

नई दिल्ली : हिमाचल प्रदेश में चुनावों की घोषणा हो चुकी है. वोटिंग की तारीख 9 नवंबर तय है. काउंटिंग 18 दिसंबर को होनी है. लेकिन इस बीच जनता मूड जानने के लिए प्रदेश में प्री-पोल सर्वे हो गया है. गुजरात की ही तरह यह सर्वे भी इंडिया टुडे ने AXIS के साथ मिलकर किया है. हिमाचल में पिछले कुछ चुनावों में एक बार भाजपा तो दूसरी बार कांग्रेस का ट्रेंड रहा है. इस साल होने जा रहे विधानसभा चुनावों के सर्वे में भी यही ट्रेंड देखने को मिलेगा. पोल के मुताबिक, भाजपा हिमाचल में सरकार बनाती दिख रही है.

सर्वे के अनुसार इस विधानसभा चुनावों में भाजपा को 43 से 47 सीटें जबकि कांग्रेस को 21 से 25 सीटें मिल सकती हैं. साथ ही निर्दलियों को भी 2 सीटें तक मिल सकती हैं. भाजपा को जहां 49 प्रतिशत वोट शेयर मिलने की बात कही जा रही है, वहीँ कांग्रेस को 38 प्रतिशत वोट शेयर मिलेगा. अन्य के खाते में 13 प्रतिशत वोट जा सकते हैं. यह भी जान लीजिये कि 2012 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 38 जबकि कांग्रेस को 43 सीट मिली थी. इससे पहले 2007 में भाजपा को 44 तो कांग्रेस को 39 सीट आई थी. दोनों चुनावों में अन्य को क्रमशः 19 और 17 सीटें अन्य के हिस्से आई थी.

सर्वे में ‘मुख्यमंत्री के रूप में पहली पांच पसाद में वीरभद्र सिंह बही भी टॉप पर हैं. उन्हें 31% लोग अभी भी मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहते हैं. उनके बाद जेपी नड्डा को 24%, प्रेम कुमार धूमल को 16%, शांता कुमार और अनुराग ठाकुर को 9%, सतपाल सिंह सत्ती को 2% लोग मुख्यमंत्री के तौर पर देखना चाहते हैं.

हिमाचल के इन चुनावों में जो मुद्दे मुख्य हैं, उनमें विकास 82% के साथ सबसे बड़ा मुद्दा है. रोजगार 7%, सड़कें 4%, सीएम कैंडिडेट 3% और बिजली, पानी, कानून व्यवस्था आदि को 4% लोग मुद्दा मानते हैं. सर्वे में जो मुख्य बातें सामने आई हैं, उनमें एक बड़ी बात है कि लोगों को मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से कोई दिक्कत नहीं है मगर वो बदलाव चाहते हैं. एससी-एसटी और महिलाएं बराबर रूप से कांग्रेस और भाजपा के पक्ष में दिखे जबकि ब्राह्मण, राजपूत और ओबीसी भाजपा के पक्ष में दिखे. मुख्यमंत्री की स्टूडेंट्स के लिए चलाई गई यूनिफॉर्म डिस्ट्रीब्यूशन स्कीम की लोगों ने सराहना की जबकि पीएम उज्ज्वला योजना और स्वच्छ भारत अभियान बीजेपी को फायदा देने वाला साबित होता दिख रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*