DGP बोले : अनुसंधान सटीक करें, अपराधियों को हर हाल में सजा दिलवाएं

आर्थिक अपराध इकाई का 7 वां स्थापना दिवस का उद्घाटन करते पुलिस अधिकारी

फुलवारीशरीफ (अजीत कुमार) : बिहार पुलिस के डीजीपी प्रमोद कुमार ठाकुर ने कहा कि आर्थिक अपराध इकाई का क्षेत्र बडा हो गया है. आर्थिक अपराध इकाई के भी अनुसंधानकर्ता को चाहिए कि अनुसंधान सटीक हो. सारे साक्ष्य को दस्तावेज बना कर कोर्ट में पेश करें, तो अपराधियों को जरूर सजा मिलेगी. शुक्रवार को बामेती के सभागार में आर्थिक अपराध इकाई का 7 वां स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन करते हुए डीजीपी ने ये बातें कहीं. उन्होंने कहा कि आर्थिक अपराध में एक लोग शामिल नहीं रहता है. यह ऐसा मामला है, जिसमें कई लोगों की संलिप्तता रहती है.

डीजीपी पीके ठाकुर ने इस इकाई को चाहिए कि अनुसंधान करे और मास्टर माइंड तक पहुंच कर उसकी गिरफ्तारी सुनिश्चत करे. डिजिटल होने और कैश लेस होने के बाद वर्तमान में क्लोन चेक से अवैध भुगतान के कई मामले सामने आये हैं. इससे आर्थिक अपराध इकाई की जिम्मेदारी बढ़ गयी है. इससे निबटने के लिए अधिकारी और कर्मियों को प्रशिक्षण देने की जरूरत है.

36 घंटे तक झोपड़ी में छिपी रही पुलिस टीम, तब जाकर पकड़ा गया कुख्यात बब्लू सिंह

बिहार सैन्य पुलिस के महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडये ने कहा कि आर्थिक अपराध इकाई की आज के परिवेश में जिम्मेदारी बढ गयी है कि इस से जुड़े कर्मियों को कौशलता आनी चाहिए. सीबीआई जैसे अनुसंधान कर्ता संगठन की तरह भरोसा आर्थिक अपराध इकाई पर भी हो और लोगों का विश्वास बढ़े. अपर पुलिस महानिदेशक मुख्यालय एसके सिंघल ने कहा कि क्वालिटी पैदा करके अनुसंधान करे. यह इकाई का महत्व बहुत है. अपर पुलिस महानिदेशक विधि-व्यवस्था आलोक राज ने भी अपने विचार रखे.

इससे पूर्व आर्थिक अपराध इकाई के आईजी जितेन्द्र सिंह गंगवार ने कहा कि आर्थिक अपराध इकाई द्वारा आर्थिक अपराध की उपलब्धियों एंव कार्रवाइयों पर पाॅवर प्वाइंट का प्रजेंटेशन दिया. इसके बाद आरबीआई के सहायक महाप्रबंधक कौशल किशोर सहाय एवं सहायक निदेशक एसबी कुमार ने जाली भारतीय नोटों के सरक्षा मानकों एवं तकनीकी अनुसंधान के विषय पर पाॅवर पाइंट प्रजेंटेशन दिया. आईसीआईसी के ईस्टर्न जोन कोलकाता के जोनल हेड मौसम मनोहर एवं पटना के एसबीआई लर्निंग सेंटर पटना के मुख्य प्रबंधक राकेश कुमार ने एटीएम धोखाधड़ी एव चेक क्लोनिंग पर विस्तार से चर्चा की. समारोह का संचालन आईपीएस राशिद जमां और एएसपी सुशील कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन दिया. इस मौके पर पटना आईजी नैयर हसनैन, पटना डीजीआई राजेश कुमार, भागलपुर के डीआईजी विकास वैभव समेत तमाम जिलों के पुलिस अधिकारी मौजूद थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*