धन्य है करपात्री जी और वेदांती जी को जन्म देने वाली धरती!

पटना: लखनऊ के पर्यटन भवन स्थित सभागार में स्वामी वेदांती जी महाराज का 10 वां महानिर्वाण दिवस युवा चेतना दिवस के रूप में मनाया गया. समारोह की अध्यक्षता करते हुए स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा कि स्वामी वेदांती जी महाराज सनातन धर्म के सूर्य थे. आजीवन सनातन धर्म के प्रचार—प्रसार हेतु कार्य किया. स्वामी वेदांती जी धर्मसम्राट स्वामी करपात्री जी महाराज के अनन्य सहयोगी थे. गौ रक्षा आंदोलन में उन्होंने अभूतपूर्व योगदान दिया.

उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की धरती धन्य है कि यहां स्वामी करपात्री जी और स्वामी वेदांती जी जैसे महापुरुषों का जन्म हुआ. सनातन धर्म हमें सबका साथ – सबका विकास का ज्ञान देती है.

महानिर्वाण महोत्सव को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा कि स्वामी वेदांती जी धर्म के अवतार थे. उनका पूरा जीवन अनुकरणीय है. युवाओं को स्वामी करपात्री जी और वेदांती जी के दिखाए हुए रास्ते पर चलना चाहिए.

युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने केंद्र सरकार से स्वामी करपात्री जी की स्मृति में धर्मसम्राट एक्सप्रेस चलाने की मांग की. उन्होंने स्वामी वेदांती जी की स्मृति में वेद अनुसंधान बोर्ड के गठन हेतु उत्तर प्रदेश सरकार से पहल की भी अपील की.

कार्यक्रम में स्वागत भाषण श्री महावीर मंदिर के प्रधान ट्रस्टी अशोक पाठक ने दिया, वहीं धन्यवाद ज्ञापन एवं शबनम पांडेय ने अंग वस्त्र देकर अतिथियों का स्वागत किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*