शराब से मौतः सरकार ने झाड़ा पल्‍ला तो पहुंचे पप्‍पू, गूंगी पत्‍नी – बच्‍चों को दिए पैसे

दनवार (सासाराम) : काराकाट ब्‍लॉक का दनवार गांव पिछले दो दिनों से बिहार-देश की मीडिया में है . ड्राइ स्‍टेट दनवार गांव के चार लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है . इस मौत के बाद बिहार सरकार निशाने पर है . मिलीभगत से शराब का धंधा कराने वाले कई पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई हुई है,पर पब्लिक का गुस्‍सा अभी शांत नहीं हुआ है . मरने वाले सभी बेहद गरीब परिवार के थे . सरकार ने स्‍पष्‍ट कर दिया है कि जहरीली शराब पीने से मरने वाले व्‍यक्तियों के आश्रित परिवार को कोई मुआवजा नहीं मिल सकता .

आज 30 अक्‍तूबर की सुबह सोकर जब से गांव उठा है,लोगों के बीच फुसफुसाहट के साथ चहलकदमी है . खबर है कि जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक व मधेपुरा के सांसद पप्‍पू यादव गांव आ रहे हैं . पटना से अहले सुबह चले हैं . ठीक साढ़े नौ बजे पप्‍पू गांव दनवार पहुंच जाते हैं .

जहरीली शराब से मरने वाले चार लोगों में दो का परिवार पहले ही गांव छोड़कर जा चुका है . मौत के बाद पुलिस के झमेले में नहीं पड़ना चाहते थे . बचे दो लोगों के परिवार से पप्‍पू यादव मिलना शुरु करते हैं . कमलेश सिंह की मौत सबसे पहले हुई थी . कमलेश की विधवा हुई पत्‍नी गूंगी है . पप्‍पू के सवालों का जवाब हाथ के संकेतों से देती है . साफ बताती है कि मौत शराब पीने के कारण हुई . गोद में अबोध बच्‍चा है . पप्‍पू गोद में ले लेते हैं . पता चलता है कि घर के खर्चे को कुछ भी पैसा नहीं है . डीएम साहब किसी मदद से मना कर चुके हैं . पप्‍पू तुरंत के खर्चे को दस हजार रुपये की आर्थिक मदद करते हैं .

जहरीली शराब पीकर मरने वाले धनजी सिंह के दो छोटे-छोटे बच्‍चे हैं . पिता का साया उठ गया है . जिंदगी कैसे कटेगी,पता नहीं . दोनों बच्‍चे पप्‍पू के सामने फफक-फफक कर रोने लगते हैं . हाथ पकड़ पप्‍पू सांत्‍वना देते हैं . फिर दोनों के लिए 25 हजार की मदद देते हैं . कहते हैं-पढ़ाई करो . आगे भी मदद करेंगे . गांव वालों को ध्‍यान रखने को कहते हैं . संकट में बात करने को बोलते हैं .

मीडिया से पप्‍पू की बातचीत

मरने वालों के परिवार से मिलने के बाद पप्‍पू मीडिया से मुखतिब होते हैं . सरकार पर गुस्‍सा निकालते हैं . कहते हैं-शराबबंदी कानून ध्‍वस्‍त है . सभी जगहों पर शराब मिल रही है . लोगों के फीडबैक को आधार मानकर कहते हैं कि इस पूरे इलाके में शराब बन और बिक रही है . पुलिस और एक्‍साइज वाले हिस्‍सा खाते रहे हैं,जिसका परिणाम दनवार का जहरीली शराब कांड है . जिले और रेंज के पुलिस के बड़े अफस धंधे को जानते हैं,पर लोभ में आंख बंद किये रहते हैं .

पप्‍पू यादव ने कहा कि सिर्फ सस्‍पेंशन से काम नहीं चलने वाला है . जब शराब रखने के जुर्म में व्‍यक्ति जेल जाता है,तो जहरीली शराब की बिक्री कराने वाले जेल क्‍यों नहीं जायेंगे . सबों को सरकार जेल भेजे . हत्‍या का मुकदमा चले . जिम्‍मेवारी से नीतीश कुमार भी नहीं बच सकते . इस मुद्दे को लड़ना होगा और वे लड़ेंगे भी .

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*