रेलवे ने बदल दिया यह नियम भी, बढ़ने वाली है यात्रियों की परेशानी

लाइव सिटीज डेस्कः इंडियन रेलवे लगातार नियमों में चेंजेज कर रहा है. अब एक और नियम बदने का सुझाव दिया गाय है. अगर ट्रेन में बैठने से पहले दरवाजे पर आरक्षण चार्ट देखने के आदी हैं तो यह खबर आपके लिए है. क्योंकि यह सुविधा अब खत्म होने वाली है. इन चार्ट को गैरजरूरी मानते हुए रेलवे बोर्ड ने इसे खत्म करने का प्रस्ताव किया है. फिलहाल नई व्यवस्था कुछ चुनिंदा स्टेशनों पर तीन महीने के लिए लागू की जा रही है.

इस संबंध में रेलवे बोर्ड ने उत्तर, पूर्व, मध्य, पश्चिम तथा दक्षिण रेलवे के मुख्य वाणिज्य प्रबंधकों को निर्देश जारी किया है. इसमें कहा गया है कि दक्षिण पश्चिम रेलवे ने आरक्षित बोगियों पर आरक्षण चार्ट चिपकाने की परिपाटी बंद करने का सुझाव दिया है. इस पर विचार के बाद बोर्ड ने निर्णय लिया है कि नई दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन, बांबे सेंट्रल, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, चेन्नई, हावड़ा तथा सियालदह स्टेशनों पर अब बोगियों पर चार्ट नहीं चिपकाए जाएंगे.

सूत्रों के अनुसार, बोगियों पर चार्ट की परंपरा खत्म करने के पीछे कई वजहें हैं. पहली, अब इसकी जरूरत नहीं रही. प्लेटफार्म पर डिजिटल या कागजी चार्ट लगाए ही जाते हैं. साथ ही एसएमएस के जरिये यात्रियों को कोच और बर्थ/सीट की सूचना मिल जाती है. दूसरी, चार्ट चिपकाने से बोगियों की बाहरी सतह गंदी हो जाती है जो धुलाई के बाद भी पूरी तरह साफ नहीं होती. रास्ते में ये चार्ट कट-फट भी जाते हैं.

तीसरी और सबसे बड़ी वजह खर्च है क्योंकि चार्ट चिपकाने के लिए फालतू स्टाफ लगाना पड़ता है. रेलवे का मानना है कि इस स्टाफ का उपयोग अन्य जरूरी कार्यो में किया जा सकता है. रेल मंत्रलय के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने बताया कि यह कदम प्रयोग के तौर पर उठाया गया है. तीन महीने बाद इसकी समीक्षा होगी.

यह भी पढ़ें-

रेल हादसे को रोकने के लिए अफसरों के घर से लौट रहे हैं 50000 गैंगमैन
Golden Opportunity : पटना एयरपोर्ट के पास 1 करोड़ का लग्‍जरी फ्लैट, बुकिंग चालू है

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*