भागलपुर बांध का मामला हाईकोर्ट पहुंचा, PIL में कहा- कड़ी कार्रवाई हो

लाइव सिटीज डेस्क (एहतेशाम अहमद) : भागलपुर में टूटे बांध को लेकर पूरे बिहार में राजनीति तेज है. विपक्ष हमलावर बना हुआ है. चूहे से लेकर घड़ियाल तक को लेकर कमेंट किये जा रहे हैं. वहीं सत्ता पक्ष भी पलटवार करने से नहीं चूक रहा है. इसी बीच गुरुवार को इस मामले में पटना हाईकोर्ट में इसके खिलाफ जनहित याचिका दायर की गई है.

बता दें कि भागलपुर के कहलगांव में बटेश्वरस्थान गंगा पंप परियोजना बन कर तैयार था. बिहार सरकार भी इस परियोजना के पूरा होने को लेकर काफी उत्साहित थी. इसका 20 सितंबर को उद्घाटन होने वाला था. इसका उद्घाटन खुद सीएम नीतीश कुमार करनेवाले थे. लेकिन 19 सितंबर को सरकारी व्यवस्था की पोल खुल गयी. मंगलवार को इसका बांध टूट गया. देखते ही देखते शहर में चारों ओर जलजमाव हो गया. वहीं उद्घाटन कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया था.

पटना हाईकोर्ट में इसे लेकर गुरुवार को जनहित याचिका दायर की गयी है. यह जनहित याचिका पटना हाईकोर्ट के अधिवक्ता मणि भूषण प्रताप सेंगर ने दायर करायी है. इस याचिका में उन्होंने कहा है कि इस मामले की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी से कराई जाये एवं दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाये. साथ ही इस योजना पर खर्च की गई राशि को वापस कराया जाये.

गौरतलब है कि सीएम नीतीश कुमार ने इस पूरे मामले को लेकर काफी गंभीर हैं. उन्होंने घटना के दूसरे दिन ही बांध मामले की जांच के आदेश दिये हैं. वहीं जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने भी साफ कहा है कि इसमें दोषी लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. उधर विपक्ष ने इस मामले को लेकर नीतीश सरकार पर लगातार हमलावर बना हुआ है.

इसे भी पढ़ें : बोले पप्पू यादव – क‍हलगांव बांध टूटने की जांच करें हाई कोर्ट के जज 
ललन सिंह के बचाव में उतरे अशोक चौधरी, कहा – बांध टूटने से मंत्री का लेना-देना नहीं
लालू बोले – चूहा लाया था बिहार में बाढ़, अब घड़ियाल ने थुथुन से तोड़ दिया बांध
आज बांध का उद्घाटन करने वाले थे सीएम नीतीश, सदमा तो जरूर लगा होगा
वीडियो : 389.31 करोड़ रुपये का बांध उद्घाटन के पहले टूट गया, सीएम कल काटने वाले थे फीता
खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में 

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमेंफ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*