कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन, खूब हो रही है माथापच्ची, अगले 48 घंटे काफी महत्वपूर्ण

लाइव सिटीज डेस्क : कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी के ताजा बयान ने कांग्रेस के गलियारे में भूचाल ला दिया है. बुधवार को उनके बयान से लगने लगा है कि एक-दो दिनों में अध्यक्ष पद फैसला ले लिया जायेगा. अशोक चौधरी ने भागलपुर बांध मामले में जल संसाधन मंत्री ललन सिंह की तरफदारी कर इसके संकेत भी दे दिये हैं. सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के लिए अगले 48 घंटे काफी महत्वपूर्ण हैं.

अशोक चौधरी का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब भागलपुर में बांध टूटने को लेकर पूरा विपक्ष नीतीश सरकार पर हमलावर बना हुआ है. विपक्ष ही नहीं, कांग्रेस के वरीय नेताओं से लेकर युवा कांग्रेस के लोग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर मंत्री ललन सिंह तक पर बरस रहे हैं. ऐसे में अशोक चौधरी के बयान से लगने लगा है कि नये कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का काउंट डाउन शुरू हो चुका है. अशोक चौधरी ने साफ कहा कि बांध के टूटने में मंत्री ललन सिंह का कोई लेना देना नहीं है. वहीं यह भी सवाल दौड़ने लगा है कि कांग्रेस की कमान बिहार में कौन संभालेगा? किसके हाथों में बागडोर दी जायेगी?

उधर कांग्रेस के तमाम नेता भी मानने लगे हैं कि वर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी का पत्ता कटना तय है. एक-दो दिनों में इस पर कोई ठोस निर्णय ले लिया जायेगा. सूत्रों का तो यहां तक कहना है कि बुधवार को पितृपक्ष खत्म हो रहा है. गुरुवार से नवरात्र शुरू है. कांग्रेस के सीनियर नेता इसी का इंतजार कर रहे हैं. अगले 48 घंटे काफी महत्वपूर्ण हैं. हालांकि पर्दे के पीछे भले ही नेताओं का हाई प्रोफाइल ड्रामा चल रहा है, लेकिन पर्दे के सामने हर कोई बोलने से परहेज कर रहा है. हां, वे बयानों के तीन चलाने में पीछे नहीं हैं.

खास बात कि कांग्रेस के वरीय नेता अखिलेश सिंह ने भागलपुर बांध के बहाने नीतीश सरकार पर हमला करते हुए संकेत दिये हैं कि वे आगे आने के लिए तैयार हैं. जहां बुधवार को बांध टूटने के मामले में अशोक चौधरी ने मंत्री ललन सिंह की तरफदारी की, वहीं अखिलेश सिंह ने सीएम नीतीश कुमार पर इसका ठीकरा फोड़ा. मतलब साफ है कि वे कांग्रेस की ओर से नीतीश सरकार के खिलाफ लंबी लड़ाई के मूड में हैं. बहरहाल प्रदेश अध्यक्ष के दौर में वरीय नेता प्रेमचंद्र मिश्रा का भी नाम लिया जा रहा है. वहीं बेगूसराय की विधायक अमिता भूषण भी इस पद के दावेदार मानी जा रही हैं.

उधर बिहार युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुमार आशीष ने भी बयान जारी कर भागलपुर में बांध टूटने को लेकर नीतीश कुमार व ललन सिंह पर तंज कसा है. उन्होंने सवाल करते हुए कहा ​है कि ललन सिंह इस मामले की जिम्मेवारी लेंगे क्या? उन्होंने कहा कि परियोजना का बांध ट्रायल के दौरान ही ध्वस्त हो गया, और यह उस राज्य में हुआ है, जहां के मुख्यमंत्री जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं.

इसे भी पढ़ें : बोले पप्पू यादव – क‍हलगांव बांध टूटने की जांच करें हाई कोर्ट के जज 
ललन सिंह के बचाव में उतरे अशोक चौधरी, कहा – बांध टूटने से मंत्री का लेना-देना नहीं
लालू बोले – चूहा लाया था बिहार में बाढ़, अब घड़ियाल ने थुथुन से तोड़ दिया बांध
आज बांध का उद्घाटन करने वाले थे सीएम नीतीश, सदमा तो जरूर लगा होगा
वीडियो : 389.31 करोड़ रुपये का बांध उद्घाटन के पहले टूट गया, सीएम कल काटने वाले थे फीता
खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में 

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमेंफ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*