सोशल : आधी रात को सड़कों पर निकल महिलायें कह रही हैं – मैं कोई सिंड्रेला नहीं हूं

लाइव सिटीज डेस्क : चंडीगढ़ में हरियाणा बीजेपी प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके एक साथी द्वारा एक आईएएस अधिकारी की बेटी वर्णिका का पीछा किए जाने की घटना सामने आई थी. इसके बाद वर्णिका ने एक फेसबुक पोस्ट में आपबीती सुनाई और सोशल मीडिया पर हंगामा मच गया था. बात मीडिया में आने पर हरियाणा में बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी ने उल्टे वर्णिका को ही दोषी ठहराते हुए कहा कि लड़की को देर रात घर से बाहर नहीं रहना चाहिए था. उनके इस बयान ने आग में घी डालने का काम किया और महिलाएं विरोध में उतर आईं.

studio11

अब वे सोशल मीडिया में नाइट आउट सेल्फ़ी डालकर कह रही हैं- #Ain’tNoCinderella यानी मैं कोई सिंड्रेला नहीं हूं जो आधी रात तक घर लौट आऊं. फ़ेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम से लेकर स्नैपचैट जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ऐसी सेल्फियों और हैशटैग से भर गए हैं. लेकिन इस हैश टैग को लगाने की वजह क्या आप जानते हैं.

सिंड्रेला की कहानी तो आप सबने सुनी होगी. वो प्यारी सी लड़की, जिसे उसकी सौतेली मां और बहनें तंग करती हैं. उसके पास पार्टी में जाने के लिए ढंग के कपड़े भी नहीं होते. एक दयालु परी आपनी जादुई शक्ति से उसे अच्छी तरह सजाकर तैयार कर देती है और पार्टी में जाने को कहती है. लेकिन इस जादू में एक पेंच था. परी ने सिंड्रेला को रात 12 बजे तक घर वापस आने को कहा था क्योंकि आधी रात के बाद उसका जादू बेअसर हो जाता था. अचानक सिंड्रेला की कहानी याद करने की यही वजह है. सोशल मीडिया पर छाया यह हैशटैग #Ain’tNoCinderella, यानी मैं कोई सिंड्रेला नहीं हूं.

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी #Ain’tNoCinderella पर सेल्फी पोस्ट करते हुए लिखा है,”मैं रात के 12 बजे घर से बाहर हूं और इसका मतलब यह नहीं मेरा पीछा किया जाए, मुझसे छेड़खानी की जाए या मेरा रेप किया जाए. मेरा सम्मान मेरा अधिकार है.”

यह भी पढ़ें – ‘बापू हमें माफ करना’ हम भटक गए थे, ‘वो’ आपके हत्यारों का साथी निकला’
12 अगस्त को नहीं होगी रात… खूब हो रहा वायरल

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*