आ गया पहला सर्वे : गुजरात में फिर से भाजपा की सरकार, कांग्रेस की ताकत बढ़ेगी

नई दिल्ली : गुजरात का चुनाव अभी घोषित नहीं हुआ है. लेकिन, देश-दुनिया की नजर गुजरात पर ही है. बहुत बड़ा बैटल फील्ड बना हुआ है गुजरात. नरेंद्र मोदी-अमित शाह के लिए प्रतिष्ठा का सवाल है, तो राहुल गाँधी का नवजीवन जुड़ा है. इस बीच इंडिया टुडे और AXIS ने गुजरात की जनता के मूड को पढ़ते हुए सर्वे आज 24 अक्टूबर की शाम को जारी किया है. इस सर्वे को मानें तो गुजरात में भाजपा लगातार पांचवीं बार सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस भाजपा से आधे पर रहेगी, लेकिन ताकत बढ़ी हुई दिखाई पड़ेगी.

सर्वे के मुताबिक़ 182 सदस्यों के गुजरात विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी को 115 से 125 सीटें मिल सकती हैं. अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश मवानी कांग्रेस के साथ रहे तो 57-65 सीटें आयेंगी. हार्दिक पटेल ने अकेले किसी दूसरी पार्टी का समर्थन किया तो उस पार्टी को कोई सीट नहीं मिलेगी. पर कांग्रेस के साथ गए तो कांग्रेस की सीट बढ़कर 62 से 71 हो जाएगी और भाजपा की सीटें घटकर 110 से 120 के बीच होगी.

वोट शेयर के मामले में सर्वे का मानना है कि भाजपा को 48 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं. मवानी-ठाकोर के साथ कांग्रेस को 38 प्रतिशत व अन्य को 12 प्रतिशत. अन्य में वाघेला और केजरीवाल की आम आदमी पार्टी भी शामिल है. हार्दिक पटेल ने कांग्रेस से अलग राह चुनी तो मात्र 2 प्रतिशत वोट मिलेंगे. लेकिन कांग्रेस के साथ गए तो कांग्रेस का वोट 38 प्रतिशत से बढ़कर 40 प्रतिशत हो जाएगा.

सर्वे में यह भी सवाल पूछा गया था कि गुजरात मुख्यमंत्री के रूप में किसे देखना चाहता है. पहले पांच स्थान पर 34 प्रतिशत के साथ विजय रुपानी प्रथम, 19 प्रतिशत के साथ शक्ति सिंह गोहिल दूसरे, 11 प्रतिशत के साथ भरत सिंह सोलंकी तीसरे, 10 प्रतिशत के साथ अमित शाह चौथे और 6 प्रतिशत के साथ हार्दिक पटेल पांचवें स्थान पर आये.

गुजरात के चुनावी मुद्दों में 32 प्रतिशत के साथ महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है. 24 प्रतिशत लोग रोजगार, 16 प्रतिशत विकास, 9 प्रतिशत सड़क और 6 प्रतिशत लोग पानी को भी मुद्दा मानते हैं. बात जहां तक किसानों की है, तो गुजरात के किसान भाजपा सरकार से सतुष्ट नहीं हैं. असंतुष्टों का प्रतिशत 49 और 7 प्रतिशत गुस्से में हैं, जबकि 38 प्रतिशत ही संतुष्ट हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*