‘तेजस्वी जी ! क्या पैदा होते ही आप कमाने लगे थे?’

tejaswi11
फाइल फोटो

पटना : जदयू के मुख्य प्रवक्ता-सह-विधान पार्षद संजय सिंह ने पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के जदयू पर दिए बयानों पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि तेजस्वी यादव अपनी पार्टी की चिंता करें. उनकी पार्टी टूट के कगार पर है. राजद के सभी नेता इंतज़ार कर रहे है कि कब लालू एंड फैमली जेल जाए तो पार्टी छोड़े.

सिंह ने तेजस्वी पर तंज करते हुए कहा कि बड़ा हुआ तो क्या हुआ जैसे तार खजूर, पंक्षी को छाया नहीं फल लागे अति दूर. तेजस्वी यादव जी, बड़े होने से ज्यादा प्रभावी होना होता है और जदयू भले बड़ी पार्टी ना हो लेकिन प्रभावी पार्टी है. नीतीश कुमार बिहार के प्रभावी नेता है. उनकी बात हर समुदाय के लोग सुनते और मानते है. राजद की तरह जदयू नहीं है कि एक समुदाय से शुरू होते है और वही ख़त्म हो जाते है.

SANJAY-SINGH-JDU
फाइल फोटो

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को राजनीति के इतिहास की भी जानकारी होनी चाहिए. पहले जब जदयू एनडीए में 17 सालों तक थी तो भी बाहर के राज्यों में जदयू का कोई गठबंधन बीजेपी के साथ नहीं था. पहले भी गुजरात में जदयू ने अकेले चुनाव लड़ा है और जीत भी हासिल की है. हर बार दो-तीन विधायक हुए हैं. यूपी से लेकर दिल्ली के एमसीडी के चुनाव तक एनडीए में रहते जदयू चुनाव लड़ी है. इस बार भी जेडीयू अपने बदौलत चुनाव लड़ेगी.

पूर्व डिप्टी सीएम पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि 28 साल की उम्र में 38 सम्पतियों के मालिक ज़रा बताएँगे कि ये कैसे अर्जित किया गया है? लोगो को एक उम्र बीत जाती है एक-दो सम्पति बनाने में. लेकिन तेजस्वी ने जेट विमान से भी तेज गति से सम्पति बनाई है. यदि उनके उम्र और सम्पति को मिलाया जाए तो वो एक साल में उन्होंने एक से ज्यादा सम्पति बनाई है, वो भी पैदा होते ही वो कमाने लगे होंगे तो.

जदयू नेता ने कहा – तेजस्वी यादव जी, जब अवैध सम्पतियां तैयार हो रही थी तो उस समय तो खुश हो रहे होंगे. आज जब सीबीआई, आईटी और ईडी पूछताछ के लिए बुला रही है तो बुरा लग रहा है. तेजस्वी जी, सवाल तो कब से एक ही है कि ये सम्पति कहाँ से आई? इसका जवाब तो दीजिये. भले तेजस्वी यादव जांच एजेंसियों पर सवाल खड़े कर रहे हो लेकिन उनको जवाब देना होगा और उस वक्त भी सवाल यही होगा कि ये सम्पत्तियां कहाँ से आई?

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*