नवगछिया में हो रहे अपराध के खिलाफ निकला आक्रोश मार्च

naugachia

नवगछिया: नवगछिया पुलिस जिला में कायम अपराधी राज, झंडापुर में महादलितों की सामूहिक हत्या व बर्बरता और बढ़ते हत्या व अपराध के खिलाफ आज बिहार संत रविदास महासभा एवं बिहार फुले अंबेदकर मंच तथा सोशलिस्ट पार्टी, न्याय मंच, प्रगतिशील छात्र संगठन, जनसंसद के समर्थन में आक्रोश मार्च निकाला गया. यह मार्च नवगछिया के जी बी कॉलेज से निकलते हुए नवगछिया बाजार, मकंदपुर चौक होते हुए नवगछिया SDO कार्यालय के समक्ष धरना में परिवर्तन हो गया. इसके पश्चात अनुमंडलाधिकारी को पांच मांगों का ज्ञापन सौंपा गया. जिसमें

हत्यारे अपराधियों को यथा शीघ्र गिरफ्तार कर फांसी की सजा दी जाए, बिन्दी कुमारी की इलाज, सुरक्षा एवं उनकी शिक्षा की जिम्मेदारी जिला प्रशासन करें. झंडापुर मुहल्ले की सुरक्षा की गारंटी जिला प्रशासन करें, पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए. पीड़ित परिवार को पचास लाख रूपये की मुआवजा सरकार अविलंब दे. वहीं रैली का नेतृत्व प्रोफेसर विलक्षण रविदास ने किया. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यह लड़ाई आगे भी जारी रहेगी. अगर सरकार लापरवाही करती है तो सड़क से लेकर रेल तक जाम की जाएगी.

आक्रोश मार्च को संबोधित करते हुए सोशलिस्ट पार्टी के  राष्ट्रीय सचिव गौतम कुमार प्रीतम ने कहा सत्ता पक्ष के एक भी मंत्री, विधायक, सांसद या जिला अधिकारी का घटनास्थल पर नहीं पहुंचना यह साबित करता है कि यह दलित महादलित की सिर्फ़ वोट की राजनीति करते हैं. लेकिन इनके एजेंडा दुःख, पीड़ा में शामिल नहीं होता है. न ही सरकार को कोई फिक्र होती है. उन्होंने कहा कि यहां सिर्फ वोट की राजनीति होती है. लेकिन कुछ दिन पहले राजद पार्टी की स्थानीय विधायका जो कि सरकार में शामिल थी. सरकार से अलग होने पर भी पीड़ित परिवार से हाल-चाल पुछने भी नहीं आई है.

वहीं न्याय मंच के नेता रिंकू यादव ने कहा सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों का चरित्र जनता के सामने है. जनता को अपने ही ताकतों पर भरोसा करना होगा. वहीं प्रगतिशील छात्र संगठन के अंजनी ने कहा कि जब जुल्मी जुल्म करेगा सत्ता के गलियारों से, चप्पा-चप्पा गूंज उठेगा इंकलाब के नारों से. सभा को सोशलिस्ट पार्टी के रणजीत कुमार मंडल, जनसंसद के रामानंद पासवान, सामाजिक कार्यकर्ता भारत, मिथलेश, चंद्रेश्वरी महेश, आदि ने भी संबोधित किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*