‘मीडिया के सहयोग से खत्म होगा दहेज़ और बाल विवाह’

पटना (तियाषा मुखर्जी) : बिहार सरकार ने दहेज़ और बाल विवाह के उन्मूलन के लिए जो कदम उठाया है उसमे समाज की भूमिका ज्यादा जरुरी है. इसके साथ ही मीडिया का भी इसमें महत्वपूर्ण रोल है. इसी को लेकर जेंडर रिसोर्स सेंटर, महिला विकास निगम एवं यूनिसेफ द्वारा आज दिनाक 18 नवम्बर 2017 को बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के विरुद्ध मीडियाकर्मियों के साथ उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया.

होटल चाणक्य में आयोजित इस कार्यशाला में विभिन्न मीडिया संस्थान के लोग मौजूद थे.
कार्यशाला की शुरुआत आनंद माधव (प्रधान सलाहकार, जेंडर रेसोर्स सेंटर) द्वारा किया गया, जिसके तहत उन्होंने वहां मौजूद मीडियाकर्मियों को इसके उद्देश्य से रूबरू कराया.

इस कार्यशाला की खास मेहमान डॉ. एन. विजयलक्ष्मी (सचिव, बिहार सरकार, महिला विकास आयोग) थी. विजयलक्ष्मी ने कई महत्वपूर्ण बातें, बाल विवाह और दहेज प्रथा को लेकर शेयर की. उन्होंने बताया कि कैसे हम इन्हें जड़ से ख़त्म कर सकते हैं.
इसके लिए उन्होंने मीडिया से आपेक्षित सहयोग मांगा है.

इस कार्यशाला में कई और भी खास मेहमान मौजूद रहे, जिनमे शुश्री ज्योत्स्ना रॉय (जेंडर विवेषज्ञ, नई दिल्ली) से थी. जिन्होंने बहुत ही अच्छे से बाल विवाह और दहेज़ प्रथा से समाज में उपस्थित परेशानियों से अवगत कराया. साथ ही बाल विवाह एवं दहेज़ प्रथा से सम्बंधित क़ानूनी प्रावधानों से शुश्री सुगंधा (चाणक्य नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, व्याख्याता) जी ने रूबरू करवाया और बाल विवाह तथा दहेज़ से संबंधित सभी क़ानूनी जानकारी दी.

इस कार्यशाला का खास मिशन समाज के लोगों के बीच जेंडर आधारित विकासात्मक सोच जागरूक करने की है. इसमें वहां उपस्थित मीडिया कर्मियों ने इसमें पूरा सहयोग देने की बात कही. उन्होंने कहा कि दहेज़ और बाल विवाह से संबंधित हर खबर को हम प्रमुखता से छापेंगे. और व्यक्तिगत स्तर पर भी लोगों को जागरूक करने का प्रयास करेंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*