बिजनेसमैन की हत्या में कई उलझनों में फंसी है पुलिस, जांच के लिए बनाई गई एसआईटी

पटना : खादिम शो रूम के मालिक जितेन्द्र कुमार गांधी की हत्या की गुत्थी अभी नहीं सुलझी है. इस गुत्थी को सुलझाने में पटना पुलिस के सामने कई उलझनें हैं. पुलिस टीम उसी उलझनों में फंस गई है. वारदात स्थल से पुलिस टीम के हाथ गोली का सिर्फ एक खोखा ही लगा जो बिजनेसमैन के बेटे की लाइसेंसी पिस्टल से चलाई गई गोली का था और जिसे अपराधियों के चलाए गए गोली के जवाब में चलाया गया था. बरामद खोखा 7.65 एमएम की गोली का था. पुलिस अब इस सवाल में उलझी है कि आखिर अपराधियों की चलाई गई गोली का खोखा आखिर गया कहां! अपराधियों की गोली का खोखा खोजने के लिए पुलिस ने काफी मेहनत की. लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली.

पुलिस के सामने इस बात की भी उलझन है कि जिस जगह पर जितेन्द्र कुमार गांधी को गोली मारी गई, वहां पर कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है. संजय गांधी इंस्टीच्यूट के मेन गेट या बाहरी कैंपस में भी कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है. इस कारण अब तक इनके हाथ कोई सबूत नहीं लगा है.

City SP Central, Patna

पुलिस के सामने तीसरी उलझन ये है कि जगदेवपथ और बेली रोड पर लगे सीसीटीवी के फुटेज को खंगाला गया लेकिन खराब क्वालिटी वाले कैमरे होने की वजह से रात के फुटेज को खंगालने में पुलिस टीम को भारी परेशानी हो रही है.

गोली को मैच कराने की है तैयारी

इस हत्या के पीछे कई सवाल हैं. जिनके जवाब तलाशने के लिए पुलिस ठोस कदम उठाने जा रही है. जितेन्द्र की बॉडी में लगी गोली की जांच कराने की तैयारी है. गोली को पुलिस ने बरामद कर ​अपने पास रख लिया है. गोली और वारदात स्थल से बरामद खोखा को जांच के लिए एफएसएल भेजा जाएगा.

प्रभारी एसएसपी सह सिटी एसपी सेंट्रल अमरकेश दारपीनेनी के अनुसार पोस्टमार्टम और एफएसएल की ​रिपोर्ट आने मामला पूरी तरह से स्पष्ट होगा. कई प्वाइंट पर मामले की जांच चल रही है. पूरे मामले की जांच के लिए एक एसआईटी बना दी गई है. एसडीपीओ सचिवालय को इसकी कमान सौंपी गई है. एसआईटी में फुलवारी शरीफ के एसडीपीओ, एयरपोर्ट व फुलवारी शरीफ के थानेदार व स्पेशल के आॅफिसर्स को शामिल किया गया है.

बेटे ने बदला बयान

पुलिस की मानें तो बिजनेसमैन जितेन्द्र कुमार गांधी का बेटा बार—बार अपना बयान बदल रहा है. मंगलवार की रात हुए वारदात के बाद उसने पुलिस को बताया था कि बैग में जूते और चप्पल थे. लेकिन बुधवार की सुबह उसने अपना बयान बदल दिया. आज दिए बयान के अनुसार उसने पुलिस को कहा कि बैग में जूते—चप्पल की नहीं थे. उसमें 40 हजार रुपये रखे थे जिसे दो बाइक पर सवार 4 अपराधियों ने लूटने का प्रयास किया था. बदलते बयान से पुलिस टीम भी हैरत में है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*