जेल डीआईजी शिवेंद्र प्रियदर्शी निलंबित, होगी विभागीय कार्रवाई

पटना : आय से अधिक संपत्ति मामले में निगरानी के हत्थे चढ़े जेल डीआईजी शिवेंद्र प्रियदर्शी को निलंबित कर दिया गया है. उन्हें विशेष निगरानी इकाई, पटना द्वारा भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम, 1988 के तहत दर्ज थाना कांड संख्या 2/2017 के मामले में निलंबित किया गया है. गृह विभाग द्वारा इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है. जारी अधिसूचना में उनके विरुद्ध आरोप पत्र गठित कर विभागीय कार्रवाई करने की भी अनुशंसा की गई है.

गौरतलब है कि बीते दिनों पटना में उनके विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी में एक करोड़ से अधिक की चल व अचल संपत्ति पकड़ी गयी थी. उनके अलावा उनकी पत्नी के नाम पर भी कई फ्लैट्स मिले थे. पटना में वसुंधरा अपार्टमेंट के अलावा डीआइजी के दो अन्य ठिकानों पर भी सर्च अभियान चलाया गया था.

dig-notification-page-001 copy

वर्तमान में शिवेंद्र प्रियदर्शी जेल विभाग में डीआइजी के पद पर पदस्थापित थे.  इससे पहले वे बेउर जेल के सुपरिटेंडेंट भी रह चुके हैं. शिवेंद्र और उनकी पत्नी के पास कुल 1.20 करोड़ की संपत्ति का पता चला है. निगरानी के आइजी रत्न संजय की मानें तो शिवेंद्र के तीन ठिकानों पर छापेमारी की गयी थी. इनमें फ्रेंड्स कॉलोनी में देव लश काउंटी अपार्टमेंट, आशियाना दीघा रोड स्थित वृंदावन अपार्टमेंट तथा जयप्रकाश नगर स्थित एक अपार्टमेंट में छापेमारी की गयी थी.

बताया जाता है कि शिवेन्द्र व उनकी पत्नी रूबी के नाम पर लश काउंटी अपार्टमेंट व आशियाना-दीघा रोड में वृंदावन अपार्टमेंट में एक-एक फ्लैट हैं. जयप्रकाश नगर में पत्नी के नाम पर एक मकान है. इसके लावा टाटा सफारी व स्विफ्ट डिजायर गाड़ी भी उनलोगों के नाम पर हैं.

यह भी पढ़ें :

जेलर निकला करोड़पति, खंगाले जा रहे दस्तावेज

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*