केंद्र के नए कानून के विरोध में पटना के वकीलों ने किया हल्ला बोल, जलायी बिल की प्रतियां

पटना : अपने पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सूबे के तमाम अधिवक्ता शुक्रवार को विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. विधि आयोग की सिफारिशों के आलोक में केंद्र सरकार के प्रस्तावित अधिवक्ता अधिनियम संशोधन बिल के विरोध में बार काउंसिल आॅफ इंडिया के आह्वान पर यह विरोध-प्रदर्शन आयोजित किया गया है. अधिवक्ताओं ने विरोध में बिल की प्रतियां जलायीं. अधिवक्ताओं ने एक सुर में विधि आयोग और केंद्र सरकार के इस प्रस्तावित बिल का खुल कर विरोध किया.

ADVOCATE4

बार काउंसिल आॅफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने अपने संदेश में बताया कि आज का कार्यक्रम पूरे देश में सफल रहा है और देश भर के वकील इसके लिए धन्यवाद के पात्र हैं. मिश्रा ने सभी अधिवक्ताओं का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि अब केंद्र सरकार को इस प्रस्तावित बिल को रद्दी की टोकरी में फेंकने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है. पूर्व से घोषित इस कार्यक्रम में सूबे की निचली अदालत में जहां प्रातःकालीन अदालतों का संचालन हो रहा है, वहां अधिवक्ताओं ने अदालती कार्य के दूसरे सत्र में कार्य का बहिष्कार करते हुए न्यायिक कार्यों से अपने को अलग कर लिया और केंद्र सरकार और विधि आयोग के विरोध में सड़क पर उतर कर जुलूस व प्रदर्शन करने लगे. बाद में अधिवक्ताओं के प्रतिनिधिमंडल ने डीएम सहित अन्य पदाधिकारियों को ज्ञापन सौंपा.

ADVOCATE2

उधर पटना उच्च न्यायालय में अधिवक्ताओं ने अपराह्न डेढ़ बजे से विरोध कार्यक्रम की शुरुआत की. पूर्व निर्धारित समयानुसार अधिवक्ता पटना उच्च न्यायालय के पश्चिमी गेट स्थित बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर के प्रतिमा स्थल के पास एकत्र हुए और शांतिपूर्वक जुलूस निकालकर केंद्र सरकार के प्रस्तावित बिल का विरोध शुरू किया. जुलूस में शामिल अधिवक्ताओं का कहना था कि यह एक काला कानून है और देशभर के अधिवक्ता इस काले कानून को कभी भी पास नहीं होने देंगे. अधिवक्ताओं का कहना था कि यदि अधिवक्ता अधिनियम में संशोधन किया गया तो वे किसी भी हालत में इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. अधिवक्ताओं ने हाइकोर्ट के पश्चिमी द्वार के समीप
ही बिल की प्रतियां जलाते हुए केंद्र सरकार व विधि आयोग के विरोध में नारे भी लगाये.

ADVOCATE6

इस प्रदर्शन व जुलूस में बिहार राज्य बार काउंसिल के सदस्यों सहित पटना उच्च न्यायालय के सभी एसोसिएशन के अध्यक्ष के अलावा सैकड़ों की संख्या में अधिवक्तागण शामिल हुए. जुलूस का नेतृत्व एडवोकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश चन्द्र वर्मा कर रहे थे. वहीं अपराह्न तीन बजे एडवोकेट जनरल रामबालक महतो के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मिलकर ज्ञापन सौंपने का कार्यक्रम निर्धारित किया गया. प्रतिनिधिमंडल में महतो के अलावा बार काउंसिल आॅफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष सूरज नारायण प्र. सिन्हा, पुष्कर नारायण शाही, एडवोकेट एसोसियेशन के अध्यक्ष योगेश चन्द्र वर्मा, उमाशंकर प्रसाद सिन्हा आदि शामिल थे.

ADVOCATE6

सिटी कोर्ट में भी प्रदर्शन

पटना सिटी बार एसोसियेशन ने आज सिटी कोर्ट परिसर के मुख्य गेट पर लॉं कमीशन के द्वारा प्रस्तावित नए बिल को जला कर प्रदर्शन किया और उसके बाद सभी अधिवक्ताओं ने एक विरोध मार्च निकाला जो गायघाट होता हुआ अनुमंडल कार्यालय पहुंचा. इसके बाद पटना सिटी बार एसोसियेशन के एक प्रतिनिधिमंडल ने एसडीओ से मिल अपनी मांगों का ज्ञापन सौपा.

सिटी बार एसोसियेशन के अध्यक्ष अधिवक्ता नवीन कुमार सिन्हा ने कहा कि नया प्रस्तावित अधिवक्ता संशोधन कानून काला कानून कि तरह है. पटना सिटी अधिवक्ता संध पूर्ण रूप से इस नए लॉं कमीशन का विरोध करता है.

एहतेशाम और जुलकर नैन की रिपोर्ट

यह भी पढ़ें :

जेल से बाहर आये पप्पू, कहा – बिहार की लड़ाई में शिरकत करने जा रहे हैं

पटना की 8 जगहों पर रेड, मिली 3 करोड़ की नकली दवाएं

पटना से गया तक महिला के शव के टुकड़े, कौन है हैवान !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*