Breaking News

साठ दिनों में ही गायब होने लगे 2000 के नोट से गांधी जी, बैंक में हुआ झगड़ा

पटना :  आज बुधवार 11 जनवरी को मार्केट में आये 2000 के नये नोट के साठ दिन पूरे हुए हैं . इन साठ दिनों में 2000 के नोट ने कई तरीकों का बखेड़ा खड़ा किया है . आज पटना के बैंक में फिर विवाद हुआ .

पिछले दिनों आपने पढ़ा था कि गुजरात में 2000 के कई नोट ऐसे मिले,जिसमें गांधी जी पूर्ण रुप से छपे ही नहीं थे . ऐसे नोट बैंक ग्राहक को जबरिया दे रहा था . कस्‍टमर लेने को तैयार नहीं हुआ था . सवाल है कि रिजर्व बैंक के प्रिंटिंग एरर का खामियाजा आम लोग क्‍यों भुगतें .

पटना के बैंकों में रगड़ा पहले भी हो चुका है . 2000 के असली नोट को नकली जैसा बताकर बैंक लेने को तैयार नहीं हुआ था . आज बुधवार को नया फसाद गांधी मैदान के एक बैंक में हुआ . लाइव सिटीज को ग्राहक ने 2000 के नोट की तस्‍वीर भेजी है .

तस्‍वीर को देखिए,साठ दिनों में ही गांधी जी 2000 के नोट पर से रंग छोड़ने लगे हैं . आगे बिलकुल मिट जाने का डर जैसा है . रुपया है तो वह एक हाथ से दूसरे हाथ में जाएगा ही . गिनती कई बार होगी और हर बार घर्षण होगा . पहले भी ऐसा ही होता आया है . लेकिन अब तक ऐसी कोई शिकायत नहीं मिलती थी कि नोट रंग छोड़ने लगा है,पर अब तो ऐसा ही हो रहा है .

नोट से गायब होते गांधी जी को पटना का बैंक लेने से इंकार करने लगा . कहा- यह नकली है,नहीं लेंगे . ग्राहक अड़ गया – कहा,आप साबित करें कि 2000 का ये नोट नकली है . बैंककर्मी नहीं सिद्ध कर सके . खूब देर तक होती रही तू-तू/मैं-मैं . फिर शर्तों के साथ झगड़ा निपटा .

यह भी पढ़ें – अब जल्दी ही 2000 के नोट वाली साड़ी भी

दिल्‍ली में खूब पढ़-लिख रहे थे बिहार के रोहिन, गुस्‍से में IIMC ने सस्‍पेंड ही कर दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *