अब बंद पड़े घर से 11 लाख की हुई चोरी

पटना : फुलवारी शरीफ के मोबाइल शॉप और पटना के फ्रेजर रोड में बाटा शो रूम में हुई चोरी का मामला अभी सुलझा भी नहीं है कि फिर से चोरी की एक बड़ी वारदात सामने आ गई है. इस बार शातिर चोरों ने खाली पड़े एक घर को अपना शिकार बनाया है.

ऐसा लगता है कि शातिरों को इस बात की भनक लग गई थी कि पूरा घर खाली पड़ा है. फैमिली का कोई भी मेंबर घर में मौजूद नहीं है. जिसके बाद शातिर चोरों ने घर में घूस कर ज्‍वेलरी और कैश समेत 11 लाख की चोरी की वारदात को अंजाम दिया. चोरी की ये वारदात पटना से सटे खगौल के रामपुर गाड़ी खाना इलाके का है. जहां पेशे से पलंबर मिस्‍त्री राजकुमार का घर है.

khagaul

हाल में ही बेची थी जमीन

जिस हिसाब से चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया है, उससे यही लगता है कि शातिरों को पता था कि कैश और ज्‍वेलरी कहां रखी है. क्‍योंकि घर के अंदर रखे बाकि के सामान अपनी ही जगह पर पाए गए. सिर्फ नीचे के कमरे में रखे आलमीरा का लॉक टूटा हुआ मिला. जिसमें कैश और ज्‍वेलरी रखी हुई थी. आलमीरा में 5 लाख रुपया कैश और 6 लाख की ज्‍वेलरी रखी हुई थी. हाल में ही राजकुमार ने अपनी एक जमीन बेची थी. उसी के 5 लाख रुपए कैश घर में रखे थे.

वेंटिलेटर के जरिए घर में घूसे थे चोर

14 जुलाई की शा‍म राजकुमार अपनी वाइफ पूनम और बेटी अंजू को लेकर बिहटा के इशरापुर गांव गया था. जब वो एक दिन बाद शनिवार को वापस घर लौटा तो जिस तरीके से मेन गेट उसने बंद किया था, वैसे ही उसे वो मिला. लेकिन जब वो ग्राउंड फ्लोर में स्थित अपने कमरे में गया तो अंदर का नजारा देख उसके होश ही उड़ गए. कमरे का गेट खुला था. आलमीरा और उसके अंदर के लॉकर का लॉक भी टूटा मिला. कैश और ज्‍वेलरी उसे गायब मिली. सारा मामला समझ में आते ही वो फर्स्‍ट फ्लोर पर गया. वहां पर वेंटिलेटर खुला मिला. इसी के रास्‍ते शातिर चोर घर के अंदर रात में घुसे थे. फिर चोरी कर आराम से उसी रास्‍ते वापस भी हो गए. वारदात की जानकारी मिलते ही खगौल थाने की पुलिस टीम पहुंची. टीम ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है.

यह भी पढ़ें –

तख़्त श्रीहरमंदिर साहिब के सभी कर्मियों के वेतन बढ़े, कमिटी चुनाव पर भी फैसला

हाईकोर्ट के रिटायर्ड रजिस्ट्रार को भी नहीं छोड़ा चोरों ने, खंगाल लिया घर

सैकड़ों मुसहर समुदाय ने ली शपथ, कभी नहीं बनायेंगे शराब

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*