बिन पैर के घंटों यूं ही खड़ा होकर दो वक्त की रोटी कमाता है, जिंदगी जीना कोई इस शख्स से सीखे

लाइव सिटीज डेस्क : जिंदगी में कोई भी काम करने में मेहनत जरूर लगती है. चाहे वो शारीरिक हो या मानसिक. मेहनत करने का उद्देश्य जीवन यापन से जुड़ा होता है. हां मेहनत का परिणाम कई बार देर से मिलता है. लेकिन मिलता जरूर है. आज हम आपके सामने एक ऐसे ङी शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके पैर नहीं है लेकिन उसने कभी हार नहीं मानी.

इंसान को अपने आप को कमजोर नहीं समझना चाहिए, चाहे आपके सामने कैसे भी परिस्थति क्यों ना हो. इसी आत्मविश्वास को कायम रखते हुए फिलीपींस का एक शख्स सबके लिए मिसाल बनकर खड़ा है. 59 साल का OnkolBorces के न सही सलामत पैर है और ना ही हाथ लेकिन फिर भी कमजोरी को अपनी ताकत दो वक्त की रोटी के लिए ट्रेफिक पुलिस की नौकरी कर रहा है.

Onkol बिना पैरों और विकृत हाथों के साथ पैदा हुआ. उसको हाल में फिलीपींस स्थित cebu city में ट्रैफिक पुलिस की नौकरी की पेशकश की. onkol ने जॉब की शुरूआत अप्रैल में गर्व और दृढ़ संकल्प के साथ शुरू की. वह गर्मी हो या तेज बारिश, टोपी लगाकर गलव्स पहनकर अपनी ड्यूटी बखूबी निभाता है. कई मोटरसाइकिल चालक ने उन्हें देखकर उनके समर्पण से प्रेरित होते हैं.

मुख्य यातायात प्रवर्तनकर्ता और बारंगे कैप्टन फ्रैंकलिन ओन्ग ने कहा, वो onkol को काम करते देखना चाहते हैं, क्योंकि वो एक बेहतर इंसान के साथ-साथ समार्ट और मेहनती हैं. onkol जॉब के लिए तीन पहिए वाले वाहन की मदद से पहुंचता है. उसका समय सुबह 6 से शाम 6 तक है. और उसकी महीने की कमाई तकरीबन US$39 है.

उसके लिए इतनी सैलरी काफी है, उसके देखभाल करने के लिए भांजी है जो रोजाना उसके कपड़े धोकर देती है. इस व्यक्ति ने ऐसा करके साबित कर दिया कि विकलांगता वास्तव में किसी के भौतिक शरीर की बजाय, सोचने के तरीके में निहित है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*