प्रोत्साहन राशि नहीं मिलने से ग्रामीणों का धैर्य टूटा, प्रदर्शन

सासाराम : राणा अवधूत कुमार : स्वच्छ भारत मिशन और लोहिया ग्राम स्वच्छता अभियान के तहत रोहतास जिले के संझौली प्रखंड को मात्र 55 दिनों में राज्य भर में पहला ओडीएफ घोषित होने का गौरव तो मिला… लेकिन इस योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि से वंचित संझौली प्रखंड के ग्रामीणों का धैर्य जवाब देने लगा है. जबकि मुख्यमंत्री की हालिया यात्रा के दौरान ही घोषणा की गयी थी कि चार दिनों के अन्दर तमाम लाभार्थियों को अनुदानित राशि उनके खातों में भेज दी जाएगी.

मुख्यमंत्री की निश्चय यात्रा के 20  दिनों बाद भी राशि नहीं मिल पाने से हर रोज ग्रामीण प्रखंड कार्यालय का चक्कर लगा रहे है. बुधवार को प्रखंड मुख्यालय पर सैकड़ों की तादात में जुटी लाभार्थी महिलाओं ने प्रदर्शन कर अपना आक्रोश जताया. विदित हो कि इस योजना के तहत शौचालय बनवाने वालों को प्रति शौचालय 12000 रूपये प्रोत्साहन राशि के रूप में दिया जाना है. संझौली प्रखंड में इस योजना के तहत कुल 6742 शौचालय बनवाये गये. जिसमें अभी तक 4750 लोगों को ही चेक और आरटीजीएस के माध्यम से विभिन बैंकों द्वारा राशि उनके अकाउंट में भेजी गई है, जबकि दो हज़ार से अधिक लोगों की राशि अभी तक नहीं मिल सकी हैं.

इन लोगों का कहना है कई महिलाओं ने अपने गहने गिरवी रख कर शौचालय बनवाया. उन्हें अपने गहने वापस लेने है. विदित हो कि इसी प्रखंड की फूल कुमारी, शांति देवी एवं इंदु देवी ने अपनी बकरी, भैस व मंगल सूत्र बेच कर घरो में शौचालय बनवाया था. खबरों की सुर्खियाँ बनी इन महिलाओं को सरकार ने इस योजना का ब्रांड अम्बेसडर बनाया है. जाहिर है, इस योजना के तहत प्रोत्साहन राशि वितरण में विलम्ब से योजना पर प्रतिकूल असर पद सकता है. कुछ लाभार्थियों का आरोप है कि राशि मुहैया कराने में विलंब के पीछे सरकारी तंत्र का स्वार्थ आड़े आ रहा है. इस मामले पर संझौली बीडीओ गायत्री देवी ने बताया कि 1692 लोगों का लिस्ट जारी किया जा चुका हैं. जिनके खाते में यथाशीघ्र राशि स्थानंतरित करने की प्रक्रिया जारी है. शेष 440 लोगों का नाम लिस्ट में नहीं मिल पा रहा है जिसकी जांच चल रही है. जांचोपरांत उनकी राशि भी खाते में डाल दी जायेगी.

ssm

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*