आरा: पूर्व मुख्यमंत्री स्व.विन्देश्वरी दुबे की 94 वीं जयंती राजकीय समारोह के रूप मनाई गयी

आरा/बिहिया (जितेंद्र कुमार): गरीबों के मसीहा पंडित बिंदेश्वरी दुबे की आज जयंती है. बिहिया के इंटर कॉलेज के प्रांगण में पूर्व मुख्यमंत्री स्व. विन्देश्वरी दुबे की जयंती राजकीय समारोह के रूप में मनाई गयी. जिसको लेकर स्वर्गीय बिंदेश्वरी दुबे के समर्थकों में काफी खुशी देखी गई. सभा की शुरुआत दुबे जी के चित्र पर पुष्प अर्पित करने से हुई. इसके कार्यक्रम में पहुंचे जिलाधिकारी भोजपुर ने कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद चलते बने.

इस अवसर पर नवोदय विद्यालय की छात्राओं ने संगीत शिक्षिका इन्द्राणी जायसवाल के नेतृत्व में छात्राओं ने ‘मन वीणा से गुंजे ध्वनि मंगलम’ भजन ‘मिल के आओ देश को संवार दे’ स्वागतम् गान को मिलन, अंजलि, सुहाना, मैत्रयी शिवानी, ज्योति कुमारी ने प्रस्तुत कर सब का मन मोह लिया. तो वही ट्रिपल बाज पर प्रदीप कुमार तथा प्रिंस कुमार शामिल थे.

स्व. विन्देश्वरी दुबे की जयंती

आयोजित कार्यक्रम में क्षेत्रीय राजद विधायक राहुल तिवारी ने स्व. विन्देश्वरी दुबे की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया माल्यार्पण कर इसके बाद उन्होंने उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए वर्तमान परिपेक्ष्य में आज के नेताओं को लालची बताया. उन्होंने कहा कि पंडित बिंदेश्वरी दुबे जी किसान परिवार में जन्म लेने और असुविधाओं के बीच उच्च शिक्षा ग्रहण की इसके बावजूद अपनी और परिवार की आर्थिक चिंता न करते हुए स्वतंत्रता आंदोलन में कूद पड़े.

गरीबों के मसीहा के बारे में उन्होंने कहा कि यह साबित करता है कि उस जमाने के नेता कितने कर्मठ थे. राजकीय समारोह में राज्य सरकार का कोई प्रतिनिधि शामिल नहीं होने पर उन्होंने सरकार को आड़े हाथों लिया. कहा कि सरकार को शायद याद भी नहीं होगा कि आज उस महामानव की जयंती पर राजकीय समारोह भी आयोजित होता है.

स्व. विन्देश्वरी दुबे की जयंती

विकास यात्रा पर भी विधायक ने साधा निशाना

राहुल तिवारी ने बिना नाम लिए मुख्यमंत्री के कार्यकलाप की आलोचना करते हुए कहा कि जनता अपने प्रधान सेवक से कुछ कहना चाहती है तो कहने नहीं दिया जाता. यही स्थिति है आज. कहा कि इन्हें विकास से कोई मतलब नहीं. किसी तरह सत्ता में बने रहने की इनकी मंशा है. कुर्सी के लालच में पांच साल के लिए जनता द्वारा मिले जनादेश को ठेंगा दिखाकर लोकतंत्र के विश्वास का हनन किया और उन लोगों को लेकर सरकार बना ली जिन्हें जनता ने नकार दिया था.

उन्होंने कहा कि सात निश्चय के तहत विकास की खानापूर्ति हो रही है. गंगा के उजले बालू से नाली गली बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बड़े—बड़े पदों पर रहते हुए स्व.दुबे जी की ईमानदारी हमारे लिए प्रेरणा स्रोत हैं. कार्यक्रम में सरकारी अधिकारी और कर्मियों के अलावा आम लोगों की उपस्थिति न के बराबर थी.

समारोह में विशेश्वर सिंह, मुराद हुसैन, जीतेन्द्र चौबे, राम शब्द सिंह, राघो दुबे, उप प्रमुख शशि भूषण सिंह, देव मोहर यादव, सामाजिक कार्यकर्ता जुबेर खान, प्रो.सियाराम सिंह, इंटर कॉलेज के प्राचार्य शमीम आदि लोगों ने भी अपने विचार रखे. सभा की अध्यक्षता और संचालन बीडीओ प्रफुल्ल चन्द प्रकाश ने तथा धन्यवाद ज्ञापन एसडीएम कुमार पंकज ने किया.

आरा: समान काम-समान वेतन को लेकर प्रारंभिक शिक्षक संघ ने सौंपा ज्ञापन

आरा : CM के कार्यक्रम में न पूछे जाने पर घटक दलों में आक्रोश

इस अवसर पर कार्यक्रम में उप समाहर्ता अरुणा कुमारी, सीओ मनोज कुमार,थानाध्यक्ष विमलेश कुमार, बीईओ सतेन्द्र कुमार, एएसआई त्रिपुरारी सिंह, सरपंच राजेश कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता मुन्ना राय, लड्डन खान, शारदानन्द यादव आदि अनेक लोगों ने कार्यक्रम में भाग लिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*