आरा: मजदूरों के मसीहा बिंदेश्वरी दुबे की जयंती लोगों ने उनके योगदान को किया याद

आरा: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व श्रमिक नेता पंडित बिंदेश्वरी दुबे की आज जयंती है. गरीबों के मसीहा के रूप में जाने जाने वाले पंडित बिंदेश्वरी दुबे की जयंती पर जिले भर में कई कार्यक्रम का आयोजन किया गया. सबसे पहले कलेक्ट्री तालाब स्थित पंडित बिंदेश्वरी दुबे स्मारक समिति के तत्वावधान में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया. समारोह के अध्यक्ष पूर्व मंत्री विजय शंकर दुबे ने माल्यार्पण के बाद कहा कि भारत की लोकतांत्रिक की रक्षा कांग्रेस ही कर सकती है. उन्होंने इस बात की चिंता व्यक्त की कि लोकतांत्रिक संस्थाओं की मर्यादा की रक्षा नहीं हो रही है.

बिंदेश्वरी दुबे की जयंती

इसके लिए कांग्रेस को धरातल पर लाना होगा. दुबे जीे ने जोर देकर कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व के बिना देश सही दिशा में नहीं चल सकता है. कांग्रेस की मजबूती के लिए बिंदेश्वरी दुबे के विचारों पर चलकर ही सफलता प्राप्त की जा सकती है. उन्होंने बिंदेश्वरी दुबे स्मारक समिति के विस्तार के लिए कहा कि शाहाबाद के चारों जिला से लोगों को चयनित किया जाएगा. पंडित बिंदेश्वरी दुबे को भुलाना बेईमानी होगी.

बिंदेश्वरी दुबे की जयंती

उन्हें राजनेता व सेनानी बताते हुए देश की राजनीति एवं मजदूर आंदोलन के इतिहास में दुबे जी का नाम स्वर्णाक्षरों में अंकित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि दुबे जी गुदड़ी के लाल थे. जिसके चलते मजदूर का द्रुतगति से भोजपुर क्या शहाबाद में विकास हुआ था. उनके निधन से राष्ट्र को अपूरणीय क्षति हुई थी. दुबे जी को श्रद्धापूर्वक याद करते हुए प्रोफेसर बलराज ठाकुर ने कहा कि दुबे जी राजनीति की काली कोठी से बेदाग निकले. वह राजनीति में अजातशत्रु बने रहे.

बिंदेश्वरी दुबे की जयंती

प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधि प्रमोद राय ने कहा कि दुबे जी महान स्वतंत्रता सेनानियों महान कार्य करने वाले व्यक्तित्व के धनी थे. मंच संचालन करते हुए संतोष तिवारी ने उनके कृतित्व की चर्चा करते हुए कहा कि मजदूरों के मसीहा की कमी हमारे बीच हमेशा खलेगी. धन्यवाद ज्ञापन वीरेंद्र मिश्र ने किया.

बिंदेश्वरी दुबे की जयंती

इस अवसर पर सत्येंद्र नारायण सिंह, भाजपा नेता हाकिम प्रसाद, गुप्तेश्वर पांडेय, यज्ञ नारायण तिवारी, राजेश पांडेय, घनश्याम उपाध्याय, सत्य प्रकाश राय, राणा प्रताप सिंह, श्रीधर तिवारी, अंजनी तिवारी, जयप्रकाश तिवारी, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता केसी दुबे, शिव शंकर चौबे, अनिल कुमार यादव, अमरेंद्र चौबे, श्यामसुंदर पांडेय, अंशु कुमार, ज्योतिराज श्रीवास्तव, अरविंद तिवारी, अरविंद पांडेय, प्रोफेसर राजेंद्र ओझा, महेंद्र प्रसाद सिन्हा, ओझा शिवराज सिंह, दीपक शुक्ला, राय बिहारी शुक्ला, लोकेश तिवारी, अभिमन्यु मिश्रा, अखिलेश बाबा सहित कई लोगों ने उन्हें पुष्प अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पितकर याद किया.

पंडित बिंदेश्वरी दुबे की जयंती पर कांग्रेसियों ने दही चूड़ा खिलाया

दूसरी ओर श्रमिकों के मसीहा पंडित बिंदेश्वरी दुबे की जयंती को लेकर कांग्रेस कार्यालय में भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया. जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष त्रिवेणी प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में एक कार्यक्रम का आयोजन कर कांग्रेसियों ने सबसे पहले उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया और उनके तैल चित्र पर पुष्प अर्पित करने के बाद दही चूड़ा खाकर धूमधाम से जयंती मनाई. इस अवसर पर त्रिवेणी प्रसाद सिंह ने कहा कि स्वर्गीय दुबे के बहुआयामी व्यक्तित्व कृतित्व के धनी थे.

बिंदेश्वरी दुबे की जयंती

पंडित दुबे राष्ट्रहित में एवं समाज के सभी वर्गों के उत्थान के लिए जो कार्य किया वह कोई नहीं कर सकता है. उनका योगदान सराहनीय है. उन्होंने अपने मंत्रिमंडल काल में पूरे बिहार के लिए जन्मभूमि शाहाबाद के विकास के साथ-साथ श्रमिक वर्ग के सर्वांगीण विकास के लिए बहुत सराहनीय काम किया. कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से जो मिसाल कायम किया वह कोई नहीं कर सकता. उन्हें सदैव याद किया जाएगा.

बिंदेश्वरी दुबे की जयंती

जयंती समारोह में डॉक्टर अयोध्या सिंह, जयंती कुमार सिंह, फजलुर्रहमान, रवि कुमार, आत्मा जेरी, सत्य प्रकाश राय, अरविंद कुमार सिंह, प्रोफेसर अरूण सिंह, मोहन दुबे, नागेंद्र मिश्र, अशोक सिंह, आशुतोष ठाकुर, रविंदर तिवारी, राकेश कुमार पांडे, पप्पू सिंह, भीम सिंह, सत्येंद्र सिंह, अब्दुल सलाम कुरैशी, हीरालाल दुबे, मनोज कुमार अंजनी, नागेंद्र मिश्रा, अरूण कुमार पटेल, श्रीधर तिवारी, प्रमोद राय, मुक्तेश्वर उपाध्याय सहित कई लोग थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*