बगहा : सीएम के नल जल के उद्घाटन के बाद पीने के पानी से निकल रहे हैं कीड़े

बगहा (चौतरवा) : सूबे के मुख्यमंत्री द्वारा कल मंगलवार को पतिलार पंचायत में नल जल योजना के उद्घाटन के बाद वहां आज दलितों ने नल का पानी पीना छोड़ दिया है, उनका कहना है कि नल के पानी से कीड़े निकल रहे हैं. पानी पीने का मतलब है, पानी से बीमारी और मौत को आमंत्रण देना. खबर के अनुसार पतिलार के वार्ड न. 14 के मिश्रौली गांव में यह शिकायत दलित परिवारों के तरफ से आई है.

दलित परिवारों का कहना है कि सरकार के मुखिया नीतीश कुमार हम सब के बीच में काम करना चाह रहें हैं, पर विभाग का ठेकदारी प्रथा उसको बंटाधार कर दे रहें हैं. ग्रामीण मंजू देवी, सोनी कुमारी,  मालती देवी, सोनम कुमारी, संदीप ठाकुर, रत्नेश तिवारी, नंदकिशोर ठाकुर, घनश्याम आदि लोगों ने जानकारी दी, कि आज बुधवार की सुबह जब लोग नल से जल लेने गये तो नल के जल से छोटे-छोटे जीवाणु निकलते हुए दिखाई पड़े हैं. दिखाई पड़ने के बाद पानी पीना हम लोगों ने बन्द कर दिया है और इसकी सूचना वरीय पदाधिकारियों को दिया है.

छात्रवृति और पोशाक राशि नहीं मिलने के कारण अभिभावकों में आक्रोश 

भितहा प्रखंड के लगभग डेढ़ दर्जन विद्यालयों का छातवृति और पोशाक नहीं मिलने के कारण छात्रों से लेकर अभिभावकों में काफी आक्रोश है.   गौरतलब है कि प्रखंड के हथुअहवा एवं खैरवा पंचायत के 18 विद्यालयों के वीएसएस का खाता बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा दहवा में है, जिसमें बीएसएस द्वारा छात्रों के पोशाक  और छात्रवृत्ति की राशि भेजी गयी है.   बैंक की लापरवाही के कारण आज तक छात्रों का पोशाक एवं छात्रवृत्ति की राशि नहीं मिल पायी है.

वहीं उत्क्रमित मध्य विद्यालय रूपही के प्रधान शिक्षक शाह मोहम्मद अंसारी ने बताया कि हमारे विद्यालय से 8 लाख रुपये की राशि विभिन्न खातों में छात्रवृत्ति एवं पोशाक राशि में भेजने के लिए बैंक को भेजा गया है.  लेकिन आज तक उक्त बैंक द्वारा राशि खातों में ट्रांसफर नहीं की गई है, जिसके कारण  अभिभावक विद्यालय में आकर अनाप-शनाप बोलते हैं. कहते हैं कि छात्रवृत्ति की राशि और पोशाक की राशि आप लोग खा गए हैं. आए दिन विद्यालय में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं डीडीओ बलिराम बैठा ने बताया कि बैंक ऑफ बड़ौदा के इस शाखा से विद्यालयों के छात्रवृत्ति और पोशाक राशि का वितरण लंबित पड़ा हुआ है, जिससे विपत्र को भेजने में काफी परेशानी हो रही है.

वहीं बैठा ने बताया कि प्रखंड के परसौना, चिलवनिया, मच्छहा,  डीही पकड़ी, भूईधरवा पंचायतों का खाता सेन्ट्रल बैंक ऑफ भैसहवा में है.  जिसका भुगतान एक माह पूर्व ही बच्चों को कर दिया गया है. अन्य बैंको द्वारा भुगतान नहीं होने के कारण विद्यालयों के बच्चे सहित अभिभावको में काफी आक्रोश है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*