जंगल से भटके हिरण को थानेदार ने जंगल भिजवाया 

बगहा: बगहा वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना में जानवरों की देखरेख सही ढंग से नहीं हो पा रही है. शायद इसी कारण से जंगल के जानवर भटक कर शहर तथा देहात इलाके के विभिन्न जगहों पर दिख जा रहे हैं. आए दिन विभिन्न जगहों पर जंगल के जानवरों को देख कर लोग वन विभाग को सूचना देते हैं, उसके बाद करीब एक से दो घंटा बाद वनकर्मी पहुंच जरूर जाते है, लेकिन जंगल मे जानवरों का सही समय पर जायजा नहीं ले पाते हैं.
एक तरफ वनकर्मियों की ड्यूटी जंगल के जानवरों पर निगरानी रखने के लिए लगी रहती है, तो दूसरी तरफ सही ढंग से निगरानी नहीं रहने के कारण जीव—जंतु इधर—उधर भटक कर चले जाते हैं. हालांकि पूर्व में कई बार पशु तस्कर भी इस जंगल से पकड़े जा चुके हैं. वन विभाग के अधिकारी इस बात से इन्कार नहीं करते कि वन कर्मी अपनी ड्यूटी सही ढंग से नहीं निभा पा रहे हैं. इसी का नमूना नगर में दिखा.
नगर थाना की पुलिस ने गश्त के दौरान एक हिरण के बच्चे को पकड़ा. इस संबंध में थानेदार मो. अयूब ने बताया कि गोड़ियापट्टी मोहल्ला के समीप नदी के किनारे गश्त के दौरान हिरण के एक बच्चे को पकडा गया तथा वन विभाग को बुलाकर हिरण के बच्चे को सौंप दिया गया. उन्होंने बताया कि हिरण का बच्चा जंगल से भटककर आया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*