जारी है विभाग के पदाधिकारियों की मनमानी

बगहा : बिहार सरकार के ग्रामीण कार्य विभाग, बगहा के कार्यालय में साहब से लेकर आदेशपाल तक का आने-जाने की अपनी मनमानी है. कार्यालय में साहब और कर्मचारियों को ड्यूटी पर तैनात रहने का अवलोकन बगहा सिटी लाईव टीम करने जब पहुँचा, तो वहां  का नजारा ही कुछ और था.

दो लोग कुर्सी लगाकर बाहर बैठे हुए थे. कार्यालय में किरानी एक भी नहीं, कमरा सभी खाली थे, कैशियर के कमरे में ताला लटका हुआ था. एक आदेशपाल जहाँगीर अंसारी मौजूद था, जिसने बताया कि दो साहब बाहर बैठे हुए हैं और कोई अभी नहीं आया है. बाहर बैठे अधिकारियों से पूछा गया, तो दोनों ने अपने को कनीय अभियन्ता बतलाते हुए अपना नाम कमलेश कुमार और शहनशाह आलम बताया. शहंशाह आलम से पुछा गया कि कार्यपालक और सहायक अभियंता कार्यालय में उपस्थित नहीं है, तो उसका जबाब था कि बेतिया डीएम साहब के मीटिंग में गये हुए हैं…फिर पुछा गया कि कैशियर, किरानी और आदेशपाल कहाँ हैं, तो शहंशाह आलम का जबाब था कि कैशियर बाबू नाश्ता करने गये हैं, किरानी लोग इधर ही होंगे. फिर उनसे जब कहा गया कि आप संतोषप्रद जबाब नहीं दे रहे हैं, तो उलझते हुए कहा कि, कहा न कैशियर नाश्ता करने गये हैं, तभी एक सजन्न वहां पहुँचे, उनसे पूछा गया कि आपका परिचय? … तो पहुँचे हुए सजन्न ने कहा कि कैशियर बाबू हैं, तब लाईव टीम ने फिर पूछा कि हमलोग प्रेस से हैं. बहरहाल कार्यालय में आने-जानेवाले लोगों का कहना था कि यह कार्यालय ऐसे ही चलता है.

bagha4

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*