शिक्षक पर लगे आरोप को छात्रों ने बताया गलत

बगहा(नगर/अनुमण्डल): दो दिनों पहले एक नाबालिग बच्ची के साथ छेड़- छाड़ के मामलें में जेल गये शिक्षक के पक्ष में गोलबन्द हो छात्रों ने उक्त मामले कि जाँच और गिरफ्तार शिक्षक के रिहाई को लेकर पुलिस उपाधीक्षक ब्रज किशोर पासवान को एक हस्ताक्षर उक्त ज्ञापन सौंपा है।जिसमें 272 छात्रों का हस्ताक्षर है।छात्रों ने अपने आवेदन में बताया है

कि मेरे शिक्षक पर गलत आरोप लगाया गया है।वे एक पिछड़े दलित समाज से हैं।जहां मेरे शिक्षक का घर है वहां बड़े और रसूख वाले लोग रहते हैं।जिन्हें उस बीच एक दलित का रहना अच्छा नहीं लगता।उन लोगों कि चाहत है कि सुनील दास ,जो मेरे शिक्षक है वे अपना घर वहां से बेचकर कहिं अन्यत्र चले जाय।जिसको ले इन लोगों ने दबाव बनाया है ।पर जब काम नहीं बना ,तो मेरे शिक्षक को गलत इल्जाम लगा फसा दिया गया है।जिसकी जाँच की जाय।हस्ताक्षर करने वालो में मनीषा कुमारी,शशि कुमारी,रानी कुमारी,दीक्षा कुमारी,लवली कुमारी,चांदनी कुमारी,सिमरन कुमारी,नितेश कुमार,विकाश कुमार,लक्ष्मन कुमार,नीरज कुमार,दिलीप कुमार,बिबेक कुमार,राजन कुमार सहित सैकड़ों छात्र शामिल हैं।वही पुलिस उपाधीक्षक ब्रज किशोर पासवान ने बताया कि इसकी जाँच अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी को दी गई है।उन्होंने बताया की जांचो प्रान्त ही आगे कुछ कहा जा सकता है।बताते चले कि एक नाबालिग बच्ची के साथ छेड़खानी मामले में बच्ची के पिता के बयान पर पुलिस ने बगहा एक के मारवाड़ी टोला निवासी सुनील दास जो बगहा 2 में सत्यम क्लासेज कोचिंग के प्रोप्राइटर हैं,को जेल भेज दिया है।वही छात्रों का कहना है कि हमारे शिक्षक को जानबूझकर गलत ढंग से फसाया गया है।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*