बगहा: नैतिक जागरण मंच के द्वारा निडर भीम को मिला भीमसेन बनने का सम्मान

bagha
मिला भीमसेन बनने का सम्मान

बगहा(अरविंद/दिवाकर): बगहा प्रखण्ड दो के मंगलपुर निवासी जनार्दन यादव का बेटा भीम सरकारी विद्यालय का छात्र है. जिसने भीषण ठंडी में खेलने के दौरान टूटी हुई रेल ट्रैक को देखकर अपनी लाल रंग की स्वेटर को निकालकर हवा में लहराने लगा. ताकि ट्रेन ड्राइवर इसे देखकर गाड़ी को रोक दे. ऐसा हुआ भी बच्चे को लाल रंग की स्वेटर को लहलहाते देख चालक ने असंभावना को भापा और गाड़ी रोक दी. बच्चे की सूझबूझ ने हजारों लोगों की जान बचा ली. फिर क्या था ऐसे साहसी बच्चों को प्रोत्साहित कर मुख्यधारा से जोड़ने के लिए नैतिक नैतिक जागरण मंच, बगहा ने अपना कदम बढ़ाया और अपनी  बाहें फैलाकर उसे गोद ले लिया. नैतिक जागरण मंच ने उस बच्चे की हौसला अफजाई के लिए अपना कदम आगे बढ़ाते हुये मंगलपुर निवासी श्री संजू पांडे अधिवक्ता जो नैतिक जागरण मंच के कानूनी सलाहकार भी है, के आवास पर एक सभा का आयोजन किया.

इस सभा में साहसी भीम यादव के पिता जनार्दन यादव के अलावे नैतिक जागरण मंच के समन्वयक  हृदयानंद दूबे उप-कोषाध्यक्ष पारसनाथ जयसवाल सचिव निप्पू कुमार पाठक के अलावा कई गणमान्य व्यक्ति जैसे गुल्ली प्रसाद यादव, अधिवक्ता अनिल कुमार गुप्ता, सन्नी कुमार यादव, राकेश कुमार जायसवाल, भूपेंद्र पांडे, शैलेंद्र पांडे, राज किशोर पांडे, अवधेश गुप्ता, धनंजय पांडे, के अलावे कई ग्रामीण लोग भी मौजूद रहे. यह सम्मान समारोह नैतिक मंच के बैनर तले संपन्न हुआ.

बच्चे की हौसला अफजाई करते हुए नैतिक जान मंच की तरफ से बच्चे को शाल ओढ़ाकर उसका सम्मान किया गया. कलम कॉपी देकर उसे आगे की पढ़ाई पूरी करने के लिए कहा गया. भीम और उसके उपस्थित दोस्तों के बीच चॉकलेट भी बांटे गये.

कार्यक्रम चल ही रहा था कि सनफ्लावर विद्यालय के प्रधानाध्यापक व नैतिक जागरण मंच के सचिव निप्पू कुमार पाठक से संजय पांडे हृदयानंद न दुबे और पारसनाथ जयसवाल ने बच्चे की पढ़ाई के बारे में बात की. तो निप्पू कुमार पाठक  ने बच्चे को 10 वीं कक्षा अपने विद्यालय में निःशुल्क पढ़ाने का घोषणा की.

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं को भी ऐसे बच्चो का सम्मान और हौसला अफजाई करना चाहिए. जिससे कि  बच्चे  परोपकार के प्रति जागरूक हो. बच्चे भीम को प्रोत्साहित करने से अन्य बच्चों को भी प्रेरणा मिलेगी और बच्चे अच्छे नागरिक बनेंगे. ताकि जब भी कभी संकट की संभावना हो तब भीम, भीमसेन बनकर  समाज की रक्षा करें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*