सरकार द्वारा बिना दहेज की शादी समारोह शुरू, लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से किया स्वागत

bagha1
बगहा (विवेक पाण्डेय): बिहार सरकार द्वारा बिना दहेज के शादी के निश्चय कि शुरुआत गंडक पार से शुरु हुआ. जिसका नमूना शनिवार के देर शाम को दिखा. बिना दहेज कि एक शादी करने के समारोह में पहुंचे मधुबनी प्रखंड विकास पदाधिकारी अजमल परवेज प्रखंड प्रमुख प्रतिनिधि मन्नू सिंह एवं धनहा थाना अध्यक्ष राजेश कुमार की टीम मधुबनी प्रखंड परिसर में आयोजित बिना दहेज की शादी में वर-वधू को आशीर्वाद देने पहुंचे मानो रौनक ही बदल गई. शादी समारोह में शामिल सभी लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया. गंडक पार के मधुबनी प्रखंड के नाजीर कृष्णकांत के पुत्र प्रभात कुमार और मुरारी कुशवाहा की पुत्री कुमारी कंचन की शादी का समारोह था.
सरकार द्वारा बिना दहेज की शादी करने के निश्चय की शुरूआत मधुबनी प्रखंड विकास पदाधिकारी ने नाजिर के पुत्र प्रभात कुमार जो प्रखंड में स्वच्छता विभाग BC पद पर कार्यरत हैं उनकी शादी से कराई प्रखंड विकास पदाधिकारी ने इस विवाह को बिना दहेज अपनी सौजन्य से ही आयोजन करवाया था. इस दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी ने वहां उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार सरकार के द्वारा बिना दहेज विवाह करने की अपने निश्चय की शुरुआत कर दी गई है. उन्होंने कहा कि आज यह एक ऐतिहासिक क्षण है जब प्रखंड कर्मी के पुत्र का विवाह बिना दहेज किया जा रहा है. उन्होंने अपने बेटे की शादी में एक रुपए दहेज़ नहीं ली हम सब को भी उनके रास्ते पर चलकर सरकार के दहेज प्रथा उन्मूलन को पूरी तरह से लागू करने का प्रयास करना चाहिए.
bagha1
शादी समारोह में उपस्थित सभी लोगों ने अपने बेटे की शादी में दहेज नहीं लेने एवं बेटियों को दहेज नहीं देने की हाथ उठा कर शपथ लिया. प्रखंड प्रमुख प्रतिनिधि मनु सिंह ने शादी समारोह में उपस्थित लोगों से दहेज के रूप में दुल्हन को ही स्वीकार करने की बात कही. उन्होंने कहा कि आज समाज में दहेज के लोभी हमारी बहू बेटियों की हत्या कर देते हैं. जबकि इस प्रथा को हमें बदलनी चाहिए और हमें आज इस विवाह मंडप में कसम खाना चाहिए कि यहां न तो अपने बेटे की शादी में दहेज लेंगे नहीं बेटी को दहेज देंगे थाना अध्यक्ष राजेश कुमार में प्रखंड के नाजिर कृष्णकांत को धन्यवाद दिया और कहा कि प्रखंड विकास पदाधिकारी के द्वारा यह काफी सराहनीय कार्य कराया गया है जो ऐतिहासिक है.
ज्ञात हो कि बिहार के नालंदा जिले के गिरीचक निवासी कुमार कृष्णकांत और जयंती देवी के 3 पुत्र एवं दो पुत्री है बड़ा बेटा रत्नेश कुमार दिल्ली में पीएनबी बैंक में कार्यरत है जबकि छोटा बेटा अभी शिक्षा ग्रहण कर रहा है इनकी दो बेटी अंजलि और गुड़िया है वही मुरारी कुशवाहा की बड़ी बेटी कुमारी कंचन है जो अपने मामा श्याम कुशवाहा दहवा निवासी के यहां जाकर शिक्षा ग्रहण कर रही थी मामा की सौजन्य से ही यह शादी पूरी की गई है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*