बगहा में बोले CM नीतीश कुमार – मानव श्रृंखला बस एक महीना बाद, करें तैयारी

bagha
मानव श्रृंखला बस एक महीना बाद

बगहा: शराबबंदी के समर्थन में पिछले साल 19 जनवरी को बिहार के लोगों ने मानव श्रृंखला बनाकर समर्थन किया था, अबकी बार दहेज प्रथा और बाल विवाह के विरूद्ध में मानव श्रृंखला बनानी है. मानव श्रृंखला बस एक महीना बाद अर्थात जनवरी के 19 तारीख को बनानी है. यह मानव श्रृंखला पिछले बार से बड़ी बनानी है. उक्त सम्बोधन बिहार के सी एम नीतीश कुमार ने विश्वास यात्रा समीक्षा दौरान कहा है. वह बगहा पुलिस जिला के बगहा एक प्रखण्ड़ स्थित पतिलार में सभा कर रहे थे. इस दौरान 122 करोड़ के लागत से कई योजनाओं का रिमोट से शिलान्यास और लोकापर्ण किया.

bagha

सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा है कि 2009 के 19 जनवरी को रात्रि विश्राम यहां पर किया था, जो उस दौरान कहा था. उसकी समीक्षा करने आया हूं. तब के पतिलार में और आज के पतिलार में बहुत अन्तर आया है. मैं जो कहता हूं, उसको पूरा करता हूं. सी एम ने आगे कहा कि बाल विवाह से आज का जेनरेशन बौना हो रहा है. इसलिए बाल विवाह बढ़िया नहीं है. कम उम्र में लड़कियों की शादी कहीं से उचित नहीं है. महिलाओं ने शराब बन्द करने कहा था, तब शराब मैं बन्द किया और फिर महिलाओं के मांग पर ही दहेज प्रथा को खत्म करने की घोषणा की है.

bagha

सीएम ने कहा सात निश्चय योजना को जहां पर दलित सस्ती है. वहां पहले धरातल पर उतारा जा रहा है. सभा में सी एम के सम्बोधन के पहले पतिलार गांव के सन्दर्भ में डीजीपी पी के ठाकुर,प्रधान सचिव अंजनी कुमार ने सम्बोधन दौरान कहा कि तबके परिवार में केवल धूल उड़ रहा था, आज सड़कें दिखाई दे रही है.

बगहा विधान सभा के विधायक आर एस पाण्डेय ने अपने सम्बोधन दौरान बगहा को राजस्व जिला बनाने की मांग की. वहीं बाल्मीकिनगर के सांसद सतीश चन्द्र दुबे ने ठकराहा प्रखण्ड के गन्ना को बगहा चीनी मिल में गिराने जाने की मांग  की. उक्त मांगो के जवाब में सी एम ने कहा कि बिहार में अगर जिला बनेगा तो बगहा का नाम शामिल रहेगा.

सभा का सम्बोधन गन्ना मंत्री खुर्शीद आलम, जिला बीस सूत्री प्रभारी मंत्री मदन सैनी ने भी किया. मंच पर भाजपा के बहा, बेतिया के जिला अध्यक्ष गंगा पाण्डेय, जद यू के बेतिया,जिला अध्यक्ष बेद्यनाथ महतो, कैलाश बैठा के अलावा विधायक मदन मोहन तिवारी, भागीरथी देवी मौजूद रही.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*