लेडी टीचर पर एक्शन बना बहस का मुद्दा, छात्रों के हंगामे से शुरू हुआ था बवाल

बगहा: बगहा प्रखण्ड 2 अंतर्गत मंगलपुर स्थित राजकीय उत्क्रमित मध्य उच्च विद्यालय के शिक्षकों के आचरण के विरूद्ध छात्र-छात्राओं के हंगामा  करने व सड़क जाम करने के सन्दर्भ में  विद्यालय कमेटी के सामूहिक फैसले में एक शिक्षिका पर किए गयी कार्रवाई का लोगों बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. लोगों की चर्चा के अनुसार उक्त विद्यालय में आरती कुमारी शिक्षिका सेवारत हैं.

विद्यालय के मिड-डे-मील की देखरेख की बनी कमेटी में वो सदस्य हैं. देखरेख की बनी कमेटी जिला अनुश्रवण समिति सदस्य अजय कुमार कुशवाहा ने बनाया है. बच्चों से लिखित  शिकायत मिलने पर निरीक्षण के दौरान उन्होंने चार सदस्यीय कमेटी बनायीं.

कमेटी के सदस्य होने के नाते मिड-डे-मील बनने और तैयार होने का निरीक्षण जब आरती कुमारी करने जाती थी, तो रसोईयादारों को रास नहीं आती था. आरती कुमारी के दिशा निर्देश को तोड़-मरोड़कर रसोईयदारों के प्रस्तुत करने से प्रधानाध्यापक आरती कुमारी पर खफा रहते थे.

बीते दिनों पुन: बच्चों द्वारा एक शिक्षिका के चप्पल प्रकरण के शिकायत पर जब जांच के लिए अजय कुमार कुशवाहा विद्यालय पहुंचे, तो जांच के दौरान बच्चों ने मध्याह्न भोजन की घटना माननीय सदस्य को बताया. जिसकी पुष्टि प्रधानाध्यापक के समक्ष आरती देवी ने किया था और आग्रह भी किया था, कि मध्याह्न भोजन के निगरानी सदस्य से मुक्त कर दिया जाय. क्योंकि मेरे निगरानी से प्रधानाध्यापक खफा हो जाते हैं.

अनुश्रवण समिति सदस्य अजय कुमार कुशवाहा ने सभी शिक्षकों को प्रधानाध्यापक के समक्ष बैठाकर समस्याओं को सामंजस कराते हुए बातों को समाप्त कर दिया था, परन्तु विद्यालय के आंतरिक राजनीति ने छात्रों को उकसाकर सड़क पर जाम करने को ला खड़ा किया और आगे के किए गये कार्रवाई में विद्यालय कमेटी ने आरती कुमारी को भी दंड़ित कर दिया. लोगों के अनुसार यह नहीं होना चाहिए था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*