बगहा में बोले एसपी – बाल विवाह से तबाह हो जाती है दो जिन्दगी

बगहा: बाल विवाह समाज का एक बहुत बड़ा कोढ़ है. बाल विवाह करने से दो परिवारों की सारी जिन्दगी तबाह व परेशान हो जाती है. बगहा पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार गुप्ता ने गुरुवार को प्रखंड बगहा दो के जिमरी नौतनवा पंचायत मे जागरुकता शिविर में आदिवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा है.

उन्होंने कहा कि बच्चे व बच्चियां जब तक व्यस्क नहीं हो जाते तब तक उनका विवाह नहीं करें. बच्चों को उच्च शिक्षा देने के लिए प्रयास करें. अगर एक पीढ़ी समाज से बहक जाए, तो हमारी आगे की पीढ़ी भी बिगड़ता जायेगा. बाल विवाह से बच्चियों का विकास भी रुक जाता है. इस लिए कम उम्र में बच्चे-बच्चियों की शादी करना कानून अपराध है. सरकार के द्वारा निर्धारित उम्र सीमा 18 से 21 के बीच ही शादी करें.

बोले बगहा एसडीएम: काम में पदाधिकारी राजनीति करेंगे तो बर्दाश्त नहीं

उन्होंने शराब बंन्दी को सफल बनाने और समाज से दहेज प्रथा को समाप्त करने का लोगों को आह्वान किया. सेमरा, बरियरवा, जिमरी नौतनवा, भरवलिया, गंगवलिया, टिकुलिया तथा चरहीया, के उरांव टोला में लोगों को जागरुक किया. इस मौके पर दस लोगों को एसपी द्वारा सम्मानित भी किया गया. एसपी के जागरुकता सभा में रामनगर डीएसपी मनीष कुमार, थानाध्यक्ष लालबाबू प्रसाद, राजकुमार गौतम व समाजिक जनप्रतिनिधि रतन उरांव, राजेश उंराव, जग्रनाथ उंराव, शर्मा उंराव, कैलास राम, बिहारी साह, सुनिता देवी, धनराजी देवी, रमाय उंराव आदि उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*