CM की घोषणा के 8 साल बाद भी नहीं बना पुल, बेकार हुआ लिंक रोड

बगहा(चौतरवा/नवल) : यहां आने वाले हर अजनबी के चेहरे  व लाल व हरी बत्ती वाली गाड़ियों की आवाज सुनकर  गांव वाले उम्मीद भरी निगाहो से दौड़ पड़ते हैं कि शायद किसी के सहयोग से छठिया घाट पर पुल का निर्माण हो जाए.जनप्रतिनिधि व अधिकारियों के आश्वासन पर पुन: अपने-अपने कार्यो में लग जाते हैं. मामला है प्रखंड बगहा एक के चंदरपुर रतवल पंचायत के रतवल गांव स्थित छठिया घाट की. जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी विकास यात्रा के दौरान वर्ष 2009 में रतवल धनहा पुल की आधारशिला रखने के क्रम मे छठिया घाट पर पुल निर्माण का आश्वासन ग्रामीणों को दिया था.

छठिया घाट गंडक पार के चारों प्रखंडों को बगहा अनुमंडल से जोड़ती है तथा लिंक रोड भी है. जहां से बगहा की दूरी12  किमी से भी कम है. वर्षों गुजर जाने के बाद भी यहां पुल निर्माण नही होने से स्थानीय लोगों में सरकार के उदासीन रवैये से काफी आक्रोश है. पुल निर्माण को लेकर सरपंच संघ के प्रखंड अध्यक्ष बगहा एक सह पंचायत के सरपंच जगन्नाथ यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व जिलाधिकारी से शीघ्र ही छठिया घाट पर पुलिस बनाने की मांग की है. उन्होंने बताया कि बरसात के दिनों मे गंडक नदी में बाढ़ आ जाने से स्थानीय लोगों समेत गंडक पार के लोगों को नाव से छठिया घाट पार करना पडता है. तथा आवागमन पूरी तरह से प्रभावित हो जाता है. लोगों को 30 किमी की दूरी तय कर बगहा जाना पड़ता है. समाजसेवी गुडलक राव, लक्ष्मण यादव, सुभान अंसारी, बशिष्ठ यादव, मुखिया अशोक यादव समेत दर्जनों लोगों का कहना है कि छठिया घाट मुख्य मार्ग बगहा पथ की ह्रदयस्थली मार्ग है. इससे कम समय में लोग बगहा अनुमंडल चले जाते है. बावजूद इसके आठ वर्ष बीत गये लेकिन अभी तक पुल निर्माण नही कराया जा सका. सुशासन बाबू की सरकार में छठिया घाट पर पुल नही बननेसे लोग काफी हतप्रभ हैं.

सरपंच संघ के अध्यक्ष ने बताया कि पुल निर्माण नही होने से बरसात  के दिनों में आवागमन तो ठप्प हो ही जाता है. साथ ही बाढ के पानी से सैकड़ों एकड़ में लगी गन्ना समेत विभिन्न प्रकार की फसले बर्बाद हो जाती है.  उन्होने बताया छठिया घाट पर पुल निर्माण नही कराया गया तो तीन पंचायतों के ग्रामीण एकजुट होकर आंदोलन पर उतारू हो जाएंगे. जिसकी जिम्मेदारी सूबे की सरकार होगी. जानकारी हो कि घाट के दोनों बगल बगहा और धनहा यूपी जाने के लिए लिंक रोड बनकर तैयार है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*