ग्राम कचहरी सचिवों का मानदेय रूका, पहुँचे भुखमरी की कगार पर

बगहा(भितहा):

रविवार को प्रखण्ड के सभी ग्राम कचहरी के सचिवों ने कचहरी संचालन करने के बाद प्रखण्ड मुख्यालय में बैठकर अपनी मानदेय नहीं मिलने को लेकर क्षोभ व्यक्त किया. प्रखण्ड सचिव संघ के अध्यक्ष नत्थू प्रजापति ने बताया कि हम लोगों का वर्ष 2015 अप्रैल से मानदेय नही मिला है, जिसमें हम लोग भूखमरी के कगार पर हैं. गौरतलब हो कि राज्य सरकार द्वारा जनवरी 2015 में हम लोगों का मानदेय दो हजार रूपये से बढ़ाकर छह हजार रूपये किया गया था और सरकार द्वारा कहा गया था कि आपलोगों का बढ़ोतरी मानदेय अप्रैल 2015 से दिया जाएगा.

ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार हम लोगों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है और समय से मानदेय नहीं देकर हम लोगों और हम लोगों के बाल बच्चों के साथ नाइन्साफी कर रही है. हम लोगों का गुजर-बसर भगवान भरोसे है. दो से ढाई साल बीत गये हैं. सरकार को सोचना चाहिए कि आखिर हम लोगों का भरण-पोषण कैसे चल रहा होगा. इसके बाद भी हम लोगों के द्वारा ग्राम कचहरी का संचालन सुचारु रूप से और निरर्धारित समय के अनुसार किया जा रहा है. ग्राम कचहरी में पड़े आवेदनों को लोगों की आपसी रजामंदी के आधार पर सुलझाया जाता है. सरकार का यही रवैया रहा तो हम लोग कटोरा लेकर भीख माँगने रोड पर उतर जाएंगे.

प्रजापति ने बताया कि हम लोग अपनी मानदेय भुगतान को लेकर एक ज्ञापन मंगलवार को बीडीओ भितहा और अनुमण्डल पदाधिकारी महोदय को सौंपेंगे. बीडीओ मोहम्मद मुस्ताक अहमद ने बताया कि ग्राम कचहरी सचिवों का मानदेय बाकी है. जिला से आवंटन जैसे ही मिलेगा, सभी लोगों का मानदेय उनके खाते में भेज दिया जायेगा. बैठक में ग्राम कचहरी सचिव राजकुमार गुप्ता, नयीमा खातुन, योगेन्द्र यादव आदि लोग उपस्थित रहे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*