बेगूसराय: अलग-अलग सड़क हादसे में दो की मौत, बाल- बाल बचा पोता

रविवार की रात्रि फुलवड़िया थाना क्षेत्र की फुलवड़िया पंचायत-तीन विषहर स्थान पुलिया के समीप तेज रफ्तार से जा रही अज्ञात टेंपो की चपेट में आने से साइकिल सवार युवक की मौत घटनास्थल पर हो गई

लाइव सिटीज,बेगूसराय : रविवार की रात्रि फुलवड़िया थाना क्षेत्र की फुलवड़िया पंचायत- तीन, विषहर स्थान पुलिया के समीप तेज रफ्तार से जा रही अज्ञात टेंपो की चपेट में आने से साइकिल सवार युवक की मौत घटनास्थल पर हो गई. इस घटना में तीन अन्य साइकिल सवार गंभीर रूप से घायल हो गए. फुलवड़िया पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बेगूसराय भेज दिया.

फुलवड़िया थानाध्यक्ष विवेक भारती ने बताया कि चारों युवक बरौनी से दो साइकिल पर सवार होकर तेघड़ा घर जा रहे थे. इसी दौरान विषहर स्थान पुलिया के समीप तेज रफ्तार जा रही अज्ञात टेंपो की चपेट में दोनों साइकिल सवार आ गए. जिसमें तेघड़ा थाना क्षेत्र के किरतौल निवासी मो. शाहनवाज के 16 वर्षीय पुत्र मो. सिकंदर की मौत घटनास्थल पर हो गई.

जबकि इसी गांव के मो. सेराज के दो पुत्र 19 वर्षीय मो. एहसान एवं 14 वर्षीय पुत्र मो. नौशाद एवं मो. इकबाल के 19 वर्षीय पुत्र मो. आलम गंभीर रूप से घायल हो गए. गंभीर रूप से घायल तीनों युवकों को तेघड़ा अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद बेगूसराय रेफर कर दिया. टेंपो चालक गाड़ी लेकर भागने में सफल रहा. समाचार प्रेषण तक घटना के संबंध में पीड़ित परिवार द्वारा प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई गई थी.

प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत पहसारा पूर्वी पंचायत के पोहल मुसहरी गांव में मंझौल- बखरी पथ पर सड़क पार करने के दौरान बस की ठोकर से 45 वर्षीया शांति देवी की मौत हो गई. इस दौरान महिला की गोद में रहा ढाई वर्ष का पोता लवकुश गंभीर रूप से घायल हो गया है. महिला दुकान से समान लेकर सड़क पार कर रही थी. उसी समय मंझौल की ओर से तीव्र गति से आ रही एक बस ने उसे ठोकर मार दिया. घटनास्थल पर ही महिला की मौत हो गई जबकि गोद में रहा पोता दूर फेंका गया इस कारण उसे चोटें आई हैं. घटना के विरोध में ग्रामीणों ने सुबह नौ बजे से ही सड़क को जाम कर दिया है.

 

महिला के पति डोमन सदा ने बताया कि शांति दुकान से लौट रही थी उसी समय घटना घटी. पोते का पैर टूट गया है. घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने सुबह दस बजे के करीब शव को सड़क पर रखकर बखरी- पहसारा पथ को पोहल मुसहरी के सामने जाम कर दिया. ग्रामीण पीड़ित परिवार के लिए मुआवजे की मांग कर रहे थे.

इसकी वजह से आवागमन घंटों बाधित रहा. इस दौरान पति डोमन सदा के अलावा पुत्र मिथुन सदा, शत्रुघ्न सदा, पुत्रियों में दयावती कुमारी, गंगिया देवी, और जयंती देवी का रोते-रोते बुरा हाल था. घटना की सूचना पाकर बीडीओ नावकोठी निरंजन कुमार, थानाध्यक्ष नावकोठी शशि कुमार सहित प्रशासन के कई अन्य लोग घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ित परिवार को काफी समझाने- बुझाने का प्रयास किया.

शाम साढ़े चार बजे तक जाम नहीं हट सका था. मौके पर प्रमुख प्रतिनिधि मुन्ना कुमार,पहसारा पूर्वी मुखिया दिनेश यादव, सरपंच संजीव यादव, पूर्व उप मुखिया अनिल कुमार महतो, श्रवण कुमार, घनश्याम कुमार सहित कई अन्य जनप्रतिनिधियों ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए प्रशासन से मुआवजे की मांग की है.