ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ने की तैयारी

aadhar-card

भागलपुरः परिवहन मंत्रालय ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ने की तैयारी कर रहा है. यदि आपका ड्राइविंग लाइसेंस बना है और वाहन चलाने के दौरान कहीं घर पर रह गया है तो घबराने की जरूरत नहीं है. ट्रैफिक पुलिस या परिवहन विभाग के अफसर मोबाइल एप पर अंगूठा रखवाएंगे और पूरी डिटेल सामने आ जाएगी. इसके जरिए फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस को भी आसानी से पकड़ा जा सकेगा.

 

फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस पकड़ने के लिए सरकार ने सारथी नामक सिस्टम बनाया है. इसमें ड्राइविंग लाइसेंस का नंबर डालकर उसकी सत्यता की जाच की जा सकती है. इसमें कई बार लोग फर्जी तरीके से फोटो लगाकर दूसरे का लाइसेंस प्रयोग कर लेते थे. वहीं इस उपकरण से जांच में समय भी अधिक लगता है. सारथी सिस्टम से ऑनलाइन चेकिंग कठिन होती है. परिवहन मंत्रालय ड्राइविंग लाइसेंस की ऑनलाइन जांच को आसान बनाने के लिए नई तकनीक ला रहा है. इसके लिए आधार कार्ड को लाइसेंस से जोड़ा जाएगा. जांच के लिए परिवहन मंत्रालय द्वारा बनाए जाने वाले एप को मोबाइल पर डाउनलोड करना पड़ेगा.

aadhar-card

चेकिंग के दौरान अफसर या कर्मचारी वाहन चालक से ड्राइविंग लाइसेंस मागने के बजाय मोबाइल स्क्रीन पर अंगूठा रखने को कहेगा. इसके बाद चालक का लाइसेंस बना है या नहीं यदि बना है तो उसकी पूरी डिटेल मोबाइल के स्क्रीन में आ जाएगी. इसके बाद बिना लाइसेंस के वाहन चलाने वाले, तेज गति से और शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों का रिकार्ड अंकित किया जा सकेगा और दोबारा जाच में संबंधित व्यक्ति की पिछली सारी सूचनाएं भी आसानी से पता चल सकेंगी. इससे बार-बार नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सकेगी.

परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मंत्रालय जल्द ही लाइसेंस और वाहनों से संबंधित प्रपत्रों को ऑनलाइन करने की तैयारी कर रहा है. इस प्रक्रिया से चेकिंग में भी आसानी हो जाएगी. आधार कार्ड को ड्राइविंग लाइसेंस से जोड़ने की कार्ययोजना पर काम किया जा रहा है. इससे फर्जी और धाधली पर आसानी से लगाम लगाई जा सकेगी.

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*