शराब बंदी का ढिंढोरा पीटना बंद करें नीतीश जी

भागलपुर :  सामाजिक कार्यकर्ता रोशन सिंह ने कहा शराब बन्दी एक अच्छी पहल थी जिसका मैंने स्वागत किया था ,लेकिन मुझे शक था कि कहीँ ये निर्णय भी सिगरेट व गुटखा की तरह सिर्फ कीमत बढ़ाने के लिये न हो । जैसा हम सब जानते हैं कि सरकार का निषेध विभाग कार्य कर रहा था, लेकिन उसी प्रकार उत्पाद विभाग भी अपना  कार्य कर रहा था जो सरकार की दोहरी नीति का  परिचायक था ।

आगे उनका कहना था  कि लोक तंंत्र में हिटलर शाही नहीँ होनी चाहिये ।  नीतीश जी खुद जिस राज्य में शराब बन्दी का ढिंढोरा पीटने गये वहाँ उनके ही पार्टी के कार्यकर्ता शराब दुकान पर टूट पड़े जिससे उस दिन उस जिले में शराब की जबरदस्त बिक्री भी हुई । इस मामले का सटीक उदाहरण उत्तरप्रदेश है । सरकार अभी भी होश में आये और अपनी दोहरी नीति को बँद कर ढिंढोरा पीटने के बजाय  लोकतांत्रिक तरीके से कार्य करे तो सभी लोग समर्थन करेंगे ।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*