मार्च और धरना तक सीमित रहा भारत बंद

भागलपुर : जन अधिकार पार्टी (लो.) युवा शक्ति के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को सरकार के नोटबंदी का फैसले का विरोध करते हुए विक्रमशिला एक्सप्रेस को रोक दिया. सभी कार्यककर्ताओं ने ट्रेन को रोकर केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की.

युवा शक्ति के जिला अध्यक्ष राजकुमार यादव ने कहा कि हमारे नेता जाप के राष्ट्रीय संरक्षक सह सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के आह्वाहन पर आज युवा शक्ति सड़क पर उतर गई हैं. इस मौके पर नेताओं ने कहा कि जिस प्रकार से केंद्र सरकार ने बिना किसी वैकल्पिक इतंजाम किये हुए नोटबंदी कही है, उससे आम जनता को काफी तकरलीफ हो रही है और हमारी पार्टी आम जनता की हितों को ख्लाय में रखते हुए केन्द्र सरकार की नोटबंदी के फैसले को विरोध करती है. विरोध करते हुए जाप नेताओं ने कहा कि  2000 के नोट के खुल्ला नहीं मिल पा रहा हैं. दूकानदार व ग्राहक दोनों परेशान हैं, 2000 के नोट को वापस लिया जाए और जल्द से जल्द 1000-500 के नोट लाए जाएं. बैंकों व एटीएम की कतार में हुई मृतक के परिजन को मुआवजा दिया जाए. वहीं राजद के कार्यकर्ताओं ने स्टेशन रोड़ से कचहरी चौक तक गये.

2

एसयूसीआई ने कराया बंद
केंद्र सरकार की ओर से 500-1000 नोटबंदी के खिलाफ भागलपुर में बन्द का मिला-जुला असर देखने को मिला. ज्यादातर दुकानें खुली हुई हैं. कई स्थान पर बन्द करने के दौरान बल प्रयोग भी किया गया. वामपंथी एसयूसीआई की ओर से भागलपुर बंद कराया गया. जुलूस निकाल कर केंद्र के खिलाफ नारे लगाये गये. एसयूसीआई के युवा नेता नोटबंदी पर कहते हैं कि मोदी सरकार चुनाव के पहले कह रही थी देश के 90% रुपये विदेशों में हैं, 10% ही देश में. क्या मोदी जी विदेश से रुपये लायेंगे. देश के बड़े-बड़े पूंजीपति आज देश का पैसा लेकर भाग गये हैं, उनको पकड़ कर लाएंगे. हमारे देश के गरीब, कुचले वर्ग के लोगों को बैंक में लाइन लगा दिया गया है, जिससे लगभग 70 लोगों की मौत हो गयी है. उधर जुलूस, प्रदर्शन के कारण आॅटो व रिक्शा नहीं चलने से लोगों को थोड़ी परेशानी हुई. वहीं स्नातक की सब्सिडियरी की परीक्षा में किसी तरह की प्रॉब्लम नहीं हुई. गौरतलब है कि गणित व भूगोल की परीक्षा सोमवार को हुई.

3

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*