सरकार का बड़ा फैसला! ATM में 9 बजे के बाद नहीं होगा ये काम, पैसों से जुड़ा है मामला

लाइव सिटीज डेस्क : आजकल ATM की सुविधा सभी जगह दी जा रही है. मार्केट के साथ मुहल्लों में भी लोगों को सुविधा देने के लिए बैंक वाले ATM खोल रहे हैं. लेकिन इस सुविधा का दुरुपयोग भी हो रहा है. मोहल्ले में चोर भी बहुत होते जा रहे हैं जो बहुत ही आसानी से ATM मशीन को ही उठा कर ले जाते हैं. या फिर ATM मशीन को तोड़ कर पैसे उड़ा ले जाते हैं.



इसी को देखते हुए ATM में कैश डालने का काम रात 9 बजे तक ही हो गया है. वहीं प्राइवेट कैश ट्रांसपोर्टेशन एजेंसीज को किसी भी हाल में बैंकों से फर्स्ट हाफ में ही कैश कलेक्ट करना होगा. रुरल एरिया में शाम 6 बजे तक ही मशीनों में कैश डालने का काम किया जाएगा. वहीं नक्सल प्रभावित इलाकों में तो यह समय शाम 4 बजे हो सकता है.

एटीएम वैन में लूटपाट की घटनाओं को रोकने के लिए गवर्नमेंट ऐसे बदलाव करने की तैयारी में है. इसके अलावा एटीएम वैन को भी सुरक्षा की दृष्टि से और ज्यादा हाईटेक किया जाएगा. CCTVs और GPS से लैस वैन 5 करोड़ से ज्यादा का कैश एक बार में नहीं ले जा सकेंगी. वैन में दो आर्म्ड गार्ड्स और एक ट्रेंड ड्रायवर होना जरूरी है.

डेली जाता है 15 हजार करोड़ तक का कैश

देशभर में रोजाना 8 हजार से ज्यादा एटीएम वैन 15,000 करोड़ रुपए तक का अमाउंट बैंक से एटीएम मशीन तक लेकर जाती हैं. पिछले कुछ दिनों में एटीएम मशीनों की लूट और हाइजेक की घटनाएं होती रही हैं. लॉ मिनिस्ट्री को इस बारे में प्रपोजल भेजा गया है. जैसे ही वहां से प्रपोजल अप्रूवड होता है, यह गाइडलाइंस स्टेट गवर्नमेंट के लिए जारी कर दी जाएंगी.

वैन में होना चाहिए दो कम्पार्टमेंट

एटीएम वैन दो इंडिपेंडेंट कम्पार्टमेंट होना जरूरी है. एक में कम्पार्टमेंट कैश रखने के लिए होता है. यह पूरी तरह से सुरक्षित होना चाहिए. यह या तो अंदर से ही मैन्युअली ओपन हो या इसमें इलेक्ट्रॉनिक लॉक हो. हर वैन में ड्रायवर के अलावा दो आर्म्ड सिक्योरिटी गार्ड्स, दो एटीएम ऑफिसर और कस्टोडियंस होना जरूरी है.