Big Breaking: हाईकोर्ट ने इन शहरों में लगा दिया लॉकडाउन, सब कुछ रहेगा बंद, राज्य सरकार को दिए कड़े निर्देश

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना से राज्य की हालत बद से बदतर होती जा रही है. हालात दिनों दिन हाथ से निकलता दिख रहा है. संक्रमण की चेन डबल, ट्रिपल स्पीड से बढ़ रही है. लोग मर रहे हैं, लगातार संख्या में इजाफा हो रहा है. ऐसे में राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे उपाए को हाईकोर्ट ने नाकाफी माना है. राज्य सरकार की तैयारियों को नाकाफी मानते हुए लोगों की जान की रक्षा के लिए हाईकोर्ट आगे आ गया है. प्रदेश के इन शहरों में 26 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया है. कोर्ट ने साफ कहा है कि इन शहरों में सभी प्रतिष्ठान 26 अप्रैल तक बंद रहेंगे. हालांकि आवश्यक सेवाओं की दुकानें इस आदेश के अंतर्गत नहीं आएंगे.

दरअसल यह पूरा मामले यूपी सरकार से जुड़ा है. यूपी में कोरोना संक्रमण की दर सबसे ज्यादा है.ऐसे में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने योगी सरकार की कार्यशैली से असंतुष्ट होकर यह कदम उठाए हैं. कोर्ट ने यूपी सरकार को 26 अप्रैल तक राज्य के पांच बड़े शहरों में सभी प्रतिष्ठानों को बंद करने का निर्देश दिया है. प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, कानपुर और गोरखपुर शहर में पूर्ण बंदी का आदेश दिया है.

इधर बिहार में कोरोना की रफ्तार काफी तेज हो गया है. प्रत्येक दिन हजारों की संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं. मरने वालों की संख्या भी बढ़ता जा रहा है. राजधानी पटना में निजी और सरकारी अस्पतालों में बेड तक मयस्सर नहीं हो रहे हैं. पटना के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी है. इसको लेकर हाहाकार मचा हुआ है. लोग अपने मरीज को लेकर इधर उधर भाग रहे हैं.

हालांकि नीतीश सरकार की ओर से ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने को लेकर कई कदम उठाए गए हैं. लेकिन फिलहाल राहत मिलता नहीं दिख रहा है. यहां तक की ऑक्सीजन की कालाबाजारी रोकने को लेकर प्लांटों में मजिस्ट्रेट तक नियुक्त कर दिए गए हैं. फिर कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों में सिलेंडर नहीं मिल पा रहा है. इसको लेकर पटना के एनएमसीएच अधीक्षक ने तो स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को पत्र लिखकर अपनी आपत्ती दर्ज करायी है.