बड़ी खबर: पद्म पुरस्कार-2022 की घोषणा, बिहार के शैवाल गुप्ता और आचार्य चंदना जी को मिला पद्मश्री

लाइव सिटीज, पटना डेस्क: बड़ी खबर, पद्म पुरस्कार-2022 की घोषणा कर दी गयी. बिहार से दो लोगों को पद्मश्री पुरस्कार मिला है. बिहार से शैवाल गुप्ता और आचार्य चंदना जी को पद्मश्री पुरस्कार मिला है. साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में मरणोपरांत शैवाल गुप्ता को पद्मश्री से नवाजा गया है. जवकि सामाजिक कार्य के क्षेत्र में आचार्य चंदना जी को पुरस्कार दिया गया. कुल 107 लोगों को पद्मश्री पुरस्कार दिया गया है.

इसके साथ ही देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत को मरणोपरांत पद्म विभूषण से नवाजा गया है. जनरल रावत, उनकी पत्नी और वायुसेना के कई अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की हाल ही में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु होगई थी. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को भी पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है. बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य को भी पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है. देश में कोरोना का स्वदेशी टीका विकसित करने वाली हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक के मालिक को भी पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला और माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नदेला को भी पद्म भूषण से नवाजा गया है.  

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और पिछड़ा वर्ग के बड़े नेता कल्याण सिंह को पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है. इस साल चार पद्म विभूषण पुरस्कारों की घोषणा की गई है, जिनमें तीन शख्सियतों को मरणोपरांत ये सम्मान दिया गया है. सीडीएस जनरल बिपिन रावत और कल्याण सिंह के अलावा राधेश्याम खेमका को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित करने का ऐलान किया गया है. खेमका, कल्याण सिंह और सीडीएस बिपिन रावत तीनों ही उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखते हैं. उनके अलावा प्रभा अत्रे को कला क्षेत्र में पद्म विभूषण दिया गया है. पद्म पुरस्कार देश के शीर्ष नागरिक पुरस्कारों में शामिल हैं. इसमें पद्म विभूषण, पद्म भूषण औऱ पद्म श्री सम्मान कला, सामाजिक कार्य, सार्वजनिक सेवा, साहित्य, कारोबार, औषधि, खेलकूद जैसे विभिन्न क्षेत्रों में दिए जाते हैं.