भोजपुरी गायिका कल्पना पटवारी ने थामा बीजेपी का दामन, पटना में ली सदस्यता

बिहार हिंदी न्यूज़, भोजपुरी गायिका, बिहार पॉलिटिक्स, बीजेपी, पटना, अमित शाह, bihar hindi news, patna, bihar politics, bjp, कल्पना पटवारी, kalpana-patowary

लाइव सिटीज डेस्क : भोजपुरी गीतों की नामचीन गायिका और भोजपुरी संगीत को ख्याति देने वाली साथ ही भोजपुरी सिनेमा के गीत संगीत को दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाली भोजपुरी और असमी की प्रख्यात गायिका कल्पना पटवारी ने भाजपा की सदस्यता ले ली है. पटना में आयोजित भाजपा के एक समारोह में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव, रवि शंकर प्रसाद, बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी आदि नेताओं की मौजूदगी में भाजपा जॉइन किया.

10000 से ज्यादा गीतों को आवाज दे चुकी

मूल रूप से असम की रहने वाली और 10000 से ज्यादा गीतों को आवाज दे चुकी कल्पना ने हाल में ही भिखारी ठाकुर और बापू के चंपारण सत्याग्रह को लेकर डॉक्यूमेंट्री भी बनाई है. कल्पना ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव, रवि शंकर प्रसाद, बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी आदि नेताओं की मौजूदगी में बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरित

राजनीतिक मंचों से हमेशा दूर रही कल्पना पटवारी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के क्रिया कलापों ने उन्हें राजनीति में आने के लिए प्रेरित किया. उनकी सोच देश को दुनिया मे सबसे आगे ले जाने की है. उन्होंने कहा कि एक कार्यकर्ता होने के नाते वह अपनी कला से भाजपा के हित मे काम करूंगी. आपको बता दें कि भोजपुरी फ़िल्म जगत से मनोज तिवारी और रवि किशन दो बड़े दिग्गज पहले से ही भाजपा के सदस्य हैं. मनोज तिवारी तो दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष जैसे बड़े पद को सुशोभित कर रहे हैं.

30 भाषाओं में गाना गाया है

बता दें कि कल्पना पटवारी एक लोक गायिका हैं. जो कि मूल रूप से आसाम के बारपेटा की रहने वाली हैं. कल्पना भोजपुरी के अलावा कई भाषाओं में गाना गाती हैं. हालांकि भोजपुरी भाषा प्रमुख माना जाता है. अब तक उन्होंने 30 भाषाओं में गाना गाया है. इसके अलावा कल्पना कई रियलटी शो में जज का भी काम कर चुकी हैं.

यह भी पढ़ें : अमित शाह के स्वागत में मिथिलांचल से पटना पहुंचे 151 साधु-संत, साथ लाए मखाना की माला

About Razia Ansari 1935 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*