कोटा से ट्रेन पटना के लिए चली, कानपुर पहुंचने के बाद सिस्टम से ही हो गई ‘गायब’

बिहार समाचार , भारतीय रेल , कोटा-पटना एक्सप्रेस, ट्रेन , Bihar news , Bihar hindi samchar , Indian rail , Patna kota express,

लाइव सिटीज डेस्क : इंडियन रेलवे की एक से बढ़कर एक लापरवाही सामने आ रही है. अभी इस समय लेट ट्रेनों की चर्चा जोरों पर है. बिना कोहरा के ट्रेनें 30-30 घंटे की देरी से चल रही हैं. इसी के साथ और भी बड़ी खामियां रेलवे में उजागर हो रही हैं. ताजा मामला बिलकुल चौंकाने वाला है. कोटा से ट्रेन पटना के लिए चली. कानपुर पहुंचने के बाद सिस्टम से ही गायब हो गई. उधर, इसी नाम की दूसरी ट्रेन लखनऊ पहुंची तो गार्ड को शंका हुई. उसने ट्रेन को आगे चलाने से मना कर दिया और अफसरों को इसकी जानकारी दी.

करीब घंटे भर जांच हुई तब पता चला कि यह खामी ट्रेन नंबर की गलत फीडिंग का नतीजा है. इस दौरान ट्रेन अचानक रुकने से यात्री भी असमंजस में रहे. इससे पहले 23 अप्रैल को पुणे-गोरखपुर स्पेशल ट्रेन भी सिस्टम से गायब हो गई थी, जिसका आज तक पता नहीं चल सका है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल, छह मई को कोटा से लखनऊ रवाना होने वाली ट्रेन 13238 कोटा-पटना एक्सप्रेस 28:20 घंटे की देरी से सात मई की शाम 7:20 बजे चली. वहीं सात मई को ही लखनऊ के लिए रवाना होने वाली 13240 कोटा-पटना एक्सप्रेस 9:34 घंटे की देरी से रात 12:24 बजे चली. रेलवे ने ट्रेन 13238 कोटा पटना एक्सप्रेस को 13240 कोटा पटना एक्सप्रेस समझकर उसकी फीडिंग कर दी.

ट्रेन नंबर 13238 कोटा पटना एक्सप्रेस गलत नंबर 13240 से कोटा से कानपुर तक चली आई. ट्रेन जैसे ही सुबह 8:54 बजे कानपुर से निकली, यह नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम (एनटीईएस) से गायब हो गई. लखनऊ में ट्रेन का गार्ड 13238 कोटा पटना एक्सप्रेस की ड्यूटी का इंतजार कर रहा था, जबकि यात्रियों को ट्रेन 13240 कोटा पटना एक्सप्रेस के आने की सूचना प्रसारित कर दी गई.

ऐसे पकड़ा मामला

चारबाग रेलवे स्टेशन पर गार्ड ने रेलवे कंट्रोल रूम को गलत नंबर की सूचना प्रसारित होने की जानकारी दी. कंट्रोल केनिर्देश पर उन्नाव में ट्रेन के गार्ड से संचालन से जुड़े दस्तावेज चेक करवाए गए तो खुलासा हुआ कि यह ट्रेन 13238 कोटा पटना एक्सप्रेस है, जिसकी गलत फीडिंग 13240 नम्बर से हुई थी.

बता दें कि 13240 कोटा पटना एक्सप्रेस लखनऊ पहुंचने के बाद सुलतानपुर के रास्ते रवाना होती है. जो कोटा से ही इलेक्ट्रिक इंजन के साथ रवाना होती है. जबकि 13238 कोटा पटना एक्सप्रेस लखनऊ के आगे फैजाबाद होकर जाती है. इस ट्रेन में लखनऊ से डीजल इंजन लगाया जाता है.

ट्रेन जहां से आरंभ होती है, वहां से ही उसकी फीडिंग की जाती है. इस बारे में कुछ भी बता पाना मुश्किल है.

– गौरव कृष्ण बंसल, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, उत्तर मध्य रेलवे

-इस मामले में फीडिंग करने वाले सिस्टम की जांच की जाएगी. संबंधित अधिकारी को जानकारी दे दी गई है. मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं.

– गुंजन गुप्ता, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, पश्चिम मध्य रेलवे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*