जोकीहाट में राजद को 40 हजार वोट कम मिले हैं, बहुत इतराएं नहीं तेजस्‍वी : पप्‍पू यादव

लाइव सिटीज, नई दिल्‍ली : बिहार के जोकीहाट में उपचुनाव के नतीजे पर मधेपुरा के सांसद पप्‍पू यादव ने बहुत कुछ कहा है . जोकीहाट में राजद को जीत मिली है . जदयू हारा है . पप्‍पू की पार्टी जाप ने भी जोकीहाट का चुनाव लड़ा था . पप्‍पू ने कहा है कि जीत के बाद तेजस्‍वी यादव जैसे इतरा रहे हैं, वह दिखावे का ढ़ोंग हैं . सच है कि अभी हाल ही में संपन्‍न अररिया लोक सभा के उपचुनाव की तुलना में जोकीहाट के उपचुनाव में राजद को 40 हजार वोट कम मिले हैं . तेजस्‍वी बताएं कि राजद का जनाधार दो महीनों में बढ़ा है कि घटा है .

पप्‍पू ने कहा कि तेजस्‍वी को पता है कि उन्‍हें और उनके पिताश्री को सिर्फ दो जातियों का वोट प्राप्‍त होता है . आखिर क्‍यों . बिहार की शेष जातियां उन्‍हें क्‍यों भाव नहीं देती है . अकेले-अकेले का रट लगा रहे तेजस्‍वी को इतिहास का ज्ञान भी होना चाहिए . शायद उन्‍हें पता नहीं है कि जब लालू प्रसाद जी अकेले चुनाव में गये थे, तो कितनी कम सीटों पर सिमट गए थे . जोकीहाट का नतीजा कोई झांकी नहीं है, दम-खम का पता तो 2019 में चलेगा .

पप्पू यादव के आवास पर रोजा इफ्तार करते शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा साथ में और भी रोजेदार
पप्‍पू यादव के घर पहुंचे शहाबुद्दीन के बेटे

नई दिल्‍ली में पप्‍पू यादव के बंगले पर गुरुवार को तिहाड़ जेल में बंद सीवान के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा भी गए थे . ओसामा ने वहीं इफ्तार किया . सड़क निर्माता कंपनी चड्ढ़ा एंड चड्ढ़ा के मालिक भी थे . सबों ने इफ्तार के बाद पप्‍पू यादव के सेवाश्रम को भी देखा, जहां गंभीर बीमारियों से ग्रसित कोई 500 रोगी रहते हैं .

पप्पू यादव के नई दिल्ली आवास पर इफ्तार करते शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा

पप्‍पू ने जोकीहाट की चर्चा करते हुए कहा कि राजद को लोक सभा उपचुनाव की तुलना में 40 हजार वोट कम तब आए हैं, जब इस चुनाव में दिवंगत तस्‍लीमुद्दीन साहब की पत्‍नी बेटे के लिए घर-घर जाकर पहली बार वोट मांग रहीं थीं . प्रत्‍याशी शाहनवाज की बेटी भी अपने अब्‍बू की जीत के वास्‍ते प्रचार कर रही थी . इस उपचुनाव में पप्‍पू की पार्टी जाप के प्रत्‍याशी को पांच हजार से कुछ अधिक वोट मिले हैं .

इफ्तार के बाद पप्‍पू यादव के सेवाश्रम को भी देखा ओसामा ने
जोकीहाट की जीत तस्‍लीमुद्दीन की जीत है

मधेपुरा सांसद ने कहा कि जोकीहाट कभी भी तस्‍लीमुद्दीन के प्रभाव से बाहर नहीं निकला . आज वे जिंदा नहीं हैं, तब भी भय मिश्रित प्रभाव है . तस्‍लीमुद्दीन तब भी जीते थे, जब मैं समाजवादी पार्टी का प्रदेश अध्‍यक्ष था और वे सपा के टिकट पर ही चुनाव लड़ रहे थे . उन्‍होंने कहा कि मुझे हंसी तब आती है, जब तेजस्‍वी अपनी तुलना नीतीश कुमार से करते हैं . कहां नीतीश, कहां तेजस्‍वी . 2019 आने दें, सब कुछ स्‍पष्‍ट हो जाएगा .

नीतीश कुमार का अपमान बंद करे भाजपा

पप्‍पू यादव ने कहा कि एनडीए में नीतीश कुमार को अपमानित किया जा रहा है, जो कतई ठीक नहीं है . यह बिहार के खिलाफ भी है . नीतीश कुमार ऐसे मुख्‍य मंत्री हैं, जिन्‍होंने अपने दम पर अपने सहयोगियों की गंदी चाल के खिलाफ जाकर रामनवमी का बड़ा दंगा रोका . रामनवमी के मौके पर दंगा भड़काने की जैसी कोशिश की गई थी, उसके कारण एनडीए से बिहार के अमनपसंद लोग डर गए . इस डर के बाद भी बिहार ने नीतीश कुमार के भीतर ईमानदारी देखी है .

नीतीश कुमार के अपमान पर पप्‍पू ने कहा कि उन्‍हें बार-बार छला जा रहा है . नीतीश केन्‍द्र से बिहार की बात कर रहे हैं,लेकिन हर मांग अनसुनी की जा रही है . विशेष राज्‍य का दर्जा, पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का स्‍टेटस, टाल इलाके का डेवलपमेंट, फरक्‍का-भीम नगर बैराज के निर्माण की मांग और कोसी त्रासदी के लिए केंद्रीय सहायता की राशि जारी करने का अनुरोध नीतीश कुमार बिहार के हित के लिए कर रहे हैं,पर उनकी बातें अनसुनी कर केन्‍द्र बिहार की लगातार अनदेखी कर रहा है .

यह भी पढ़ें : चुनौतियों से लड़ने की ताकत और व्यवस्था बदलने की प्रेरणा देती है पप्पू यादव की ‘जेल’

पप्पू यादव को हो रही है लालू प्रसाद की चिंता, राष्ट्रपति को लेटर लिख कहा- उनकी रक्षा कीजिए

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*